आयुष्मान भारत- प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के गोल्डन कार्ड बनवाने में लाएं तेजी

पंचकूला- स्वास्थ्य विभाग, पंचकुला ने आयुष्मान भारत- प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना  को सफल बनाने को लेकर डीडीपीओ, कंवर दमन सिंह की अध्यक्षता में जिला के सभी सरपंचों की सामूहिक बैठक ली और योजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी और बताया की इस योजना के तहत जिला पंचकुला में तकरीबन साठ हजार गोल्डेन कार्ड बनाए जाने का लक्ष्य रखा गया है और अभी तक केवल तीस हजार गोल्डन कार्ड ही बनवाए जा सके है । डॉ अनुज बिशनोई, जिला नोडल अधिकारी ने सरपंचों के माध्यम से जिन लाभार्थियों के अभी तक गोल्डेन कार्ड नहीं बने है उनके कार्ड बनवाने में तेजी लाने की अपील की और बताया की किस तरह से बचे हुए लाभार्थि जरूरत पड़ने पर 5 लाख तक की चिकित्सा सुविधा निशुल्क प्राप्त कर सकते है ।

उन्होने गोल्डन कार्ड बनवाने को लेकर सभी सरपंच, नंबरदार, वार्ड सदस्य से सहयोग देने की बात कही ताकि  पूर्ण लक्ष्य प्राप्त किया जा सके और कहा कि सरकार द्वारा निर्धारित नियमों के अनुरूप प्रत्येक पात्र परिवार का गोल्डन कार्ड बनाया जाना बहुत जरूरी है ताकि जरूरतमंद परिवारों को सरकारी योजना का लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री कार्यालयों द्वारा देश भर में उन सभी परिवारों को पत्र भिजवाए गए हैं जो आयुष्मान भारत योजना में शामिल होने की पात्रता रखते हैं। कोई भी व्यक्ति इस पत्र को  दिखाकर अपनी नजदीकी सीएससी से अपना गोल्डन कार्ड बनवा सकता है। यदि किसी परिवार के पास यह पत्र नहीं है तब भी वह अपना नाम,  मोबाइल नंबर व राशन कार्ड नंबर के माध्यम से सीएससी जाकर अपनी पात्रता की जांच कर सकता है  और तीस रुपेय का शुल्क देकर अपना कार्ड बनवा सकता है, निशुल्क कार्ड बनवाने कि सुविधा सीएचसी कालका, सीएचसी रायपुररानी व नागरिक अस्पताल, सैक्टर-6 में भी उपलब्ध है ।

बैठक में डॉ अनुज बिशनोई, जिला नोडल अधिकारी, रेनु गर्ग, आईटी इंचार्ज, परविन धीमान, सीएससी स्टेट कोर्डिनेटर मोजूद रहे ।