उचित खान-पान और शरीर की प्रतिरोधात्मक क्षमता बढ़ाने के लिये गिलोय, तुलसी आदि देसी जड़ी बुटियों का प्रयोग से करें कोरोना वायरस के बचाव

 
पंचकूला, 17 मार्च- आयुर्वेद विभाग द्वारा हरियाणा सरकार के दिशा निर्देशानुसार लोगों को कोरोना वायरस के बचाव के उपायों के प्रति जागरूक करने के लिये जिला के विभिन्न गांवों में स्वास्थ्य जांच एवं जागरूकता शिविर आयोजित किये जा रहे है।
इस संबंध में विस्तार से जानकारी देते हुए जिला आयुर्वेंदिक अधिकारी डाॅ. दलीप मिश्रा ने बताया कि विशेषकर रायपुररानी, टोडा ग्रामीण क्षेत्रों में आयोजित इन शिविरों में लोगों को कोरोना वायरस से सामान्य तौर पर होने वाले लक्षणों में बारे में जानकारी देने के साथ साथ सावधानियां बरतने के लिये सचेत किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस वायरस से ग्रस्त होेने पर आमतौर पर तेज बुखार, नाक का बहना, तेज खांसी, शरीर में दर्द एवं सांस लेने में कठिनाई जैसे लक्षण होते है। उन्होंने बताया कि इस संक्रमण से भयभीत होने की आवश्यकता नहीं है। इसके लिये सचेत रहते हुए लगातार दिन में कई बार साबुन से हाथ धोने चाहिए और ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए।
उन्होंने बताया कि उचित खान-पान और शरीर की प्रतिरोधात्मक क्षमता बढ़ाने के लिये गिलोय, तुलसी आदि देसी जड़ी बुटियों का प्रयोग करना चाहिए। उन्होंने बताया कि शिविरों में रोगियों की जांच करके मुफ्त दवाइयां भी वितरित की जा रही है। जिला में लगाये जाने वाले इन शिविरों के लिये आयुर्वेदिक चिकित्सकों की टीमें गठित की गई है, इनमें डाॅ. यामिनी गुप्ता, डाॅ. मोनिका माटा व डाॅ. रितु मित्तल सहित कई चिकित्सक शामिल है।