किसान आंदोलन का समर्थन करने वाले हैं असली देशभक्त: केजरीवाल

चंडीगढ़, जींद: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने किसान आंदोलन तथा किसानों का समर्थन करने वाले सभी लोगों को सच्चा देशभक्त करार देते हुए कहा है कि किसानों के लिए काले कानून पास करने वाले और उन कानूनों का समर्थन करने वाले न केवल किसान विरोध हैं बल्कि इस देश के गद्दार हैं। जिन्हें कभी माफ नहीं किया जा सकता। अरविंद केजरीवाल रविवार को जींद सैक्टर-नौ में पार्टी के सह प्रभारी एवं राज्यसभा सांसद सुशील गुप्ता के नेतृत्व में आयोजित किसान महापंचायत को संबोधित कर रहे थे।

बेकार नहीं जाएगी तीन सौ किसानों की शहादत |

उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार द्वारा अपने पंूजीपति मित्रों को लाभ पहुंचाने के लिए लागू किए गए तीन कृषि कानूनों का विरोध करते हुए तीन सौ से अधिक किसान अपनी जान दे चुके हैं। अब हरियाणा या पंजाब की नहीं बल्कि समूचे देशवासियों का यह फर्ज है कि वह इन किसानों की शहादत को बेकार न जाने दें। इसलिए यह लड़ाई अंत तक लड़ी जाएगी।

हमने समर्थन किया तो केंद्र ने छीन लिए अधिकार |

केजरीवाल ने कहा कि जिस देश में किसानों का सम्मान नहीं होता वह देश कभी तरक्की नहीं कर सकता। मोदी सरकार ने यह कानून लागू करके न केवल किसानों का अपमान किया है बल्कि देश को तरक्की की राह पर जाने से रोक दिया है।
उन्होंने कहा कि हरियाणा व पंजाब के किसान जब दिल्ली की सीमा पर जा रहे थे तो हरियाणा सरकार ने जगह-जगह वाटर कैनन व लाठीचार्ज करके किसानों की राह को रोकने का काम किया है। दूसरी तरफ दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार ने सीमा पर बैठे किसानों को पानी, शौचालय तथा मुफ्त वाई-फाई की सुविधा देकर उनका समर्थन किया है।
दिल्ली के सीएम ने कहा कि उन्होंने जब आंदोलरत किसानों का समर्थन किया तो केंद्र सरकार ने संसद में कानून पारित करके दिल्ली की चुनी हुई सरकार की शक्तियां समाप्त करके नामजद किए जाने वाले उपराज्यपाल को दे दिए। केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार ने अभी केवल राजनीतिक अधिकार छीने हैं लेकिन किसानों के लिए वह बड़ी से बड़ी कुर्बानी देने से भी पीछे नहीं हटेंगे।

राज्यसभा सांसद सुशील गुप्ता के नेतृत्व में हुआ किसान महापंचायत का आयोजन |

इससे पहले केजरीवाल का यहां पहुंचने पर स्वागत करते हुए राज्यसभा सांसद एवं किसान महापंचायत के संयोजक डॉ.सुशील गुप्ता ने कहा कि तीन सौ किसानों की मौत के बाद भी यह सरकार किसानों पर अत्याचार करने से बाज नहीं आ रही है। रोहतक में हुए किसान लाठीचार्ज की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए गुप्ता ने कहा कि रैली में उमड़ी भीड़ इस बात का प्रतीक है कि हरियाणा वासियों का भाजपा-जजपा सरकार से मोहभंग हो चुका है और प्रदेश वासी इस किसान विरोधी सरकार को सत्ता से बाहर करना चाहते हैं। लाल किले पर 26 जनवरी को हुई घटना को भाजपा प्रायोजित करार देते हुए गुप्ता ने कहा कि हरियाणा वासी आज पूरी तरह से किसानों के समर्थन में खड़े हो गए हैं।

किसानों का विरोध करने वाले देश के गद्दार |

उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी पूरी तरह से किसानों के साथ है और आने वाले समय में इस लड़ाई को तेज किया जाएगा। महापंचायत के दौरान छोटू राम विचार मंच तथा किसान संगठनों द्वारा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को हल भेंट कर उनका स्वागत किया गया।

महापंचायत की झलकियां
–मंच पर आने से पहले आंदोलन में शहीद हुए किसानों को श्रद्धांजलि दी गई।
–दिल्ली के मुख्यमंत्री ने जींद पहुंचकर मुख्य मंच पर पहुंचकर स्वागत नहीं करवाया। उन्होंने किसी भी नेता व कार्यकर्ता से फूल माला आदि भी स्वीकार नहीं की।
–किसान महापंचायत में पहुंचे ग्रामीण व किसान हुक्का साथ लेकर आए हुए थे।
–किसान महापंचायत में पुरूषों के साथ-साथ भारी संख्या में महिलाएं भी पहुंची हुई थी।
–मुख्य पंडाल में आम आदमी पार्टी के साथ-साथ छोटूराम विचार मंच के बैनर भी लगे हुए थे।
–मुख्य मंच पर लगे होर्डिंग में किसी भी आप नेता की बजाए शहीद भगत सिंह और दीनबंधु सर छोटूराम का फोटो लगाया गया था।