कैसा रहेगा 6 अप्रैल को गुरु का राशि परिवर्तन आप और देश के लिए: मदन गुप्ता सपाटू

चंडीगढ़: ज्योतिषीय संसार में गुरु एक महत्वपूर्ण ग्रह माना जाता है जिसकी चाल से देश और दुनिया के आने वाले समय के बारे बताया जाता है। दिसंबर 2019 में जब गुरु ने राशि परिवर्तन किया तो इस खगोलीय घटना को कोरोना से जोड़ कर देखा गया। गुरु- शनि की युति ने इस महामारी को आगे बढ़ाया। कुछ विशेषज्ञों का गत वर्ष भी यह मानना था कि जब तक शनि अपनी दो राशियों मकर और कुंभ से बाहर नहीं निकलते तब तक कोरोना और जनांदोलन चलते रहेंगे। और यह सिलसिला 2022 तक चलने की संभावना है।

13 अप्रैल से नव संवत 2078 और नवरात्र भी आरंभ हो रहे हैं। राक्षस नामक इस संवत में राजा और मंत्री दोनों ही मंगल हैं जो आने वाले समय में हिंसा , उपद्रव दुर्घटनाओं, प्राकृतिक आपदाओं, अधिक गर्म मौसम का संकेत दे रहे हैं।

अभी 6 अप्रैल से ग्रहचाल के अनुसार विभिन्न लोगों पर उनकी चंद्र राशियों के अनुसार क्या प्रभाव पड़ सकता है और क्या उपाय करें , यह हम जनहित में दे रहे हैं। फिर भी बहुत सा फलादेश आपकी अपनी कुंडली में अन्य ग्रहों की स्थिति एवं दशाओं पर भी निर्भर करेगा अतः इसे पढ़ते समय इस बात का भी ध्यान रखें।

बृहस्पति 6 अप्रैल को मकर राशि की यात्रा समाप्त करके कुंभ राशि में प्रवेश कर रहे हैं, इस राशि पर ये 13 सितंबर तक गोचर करेंगे। अपनी इस यात्रा के मध्य ये 20 जून की रात्रि 8 बजकर 28 मिनट पर वक्री होंगे और उसी अवस्था में चलते हुए पुनः14 सितंबर की दोपहर 2 बजकर 28 मिनट पर मकर राशि में प्रवेश कर जाएंगे। बीते 13 महीनों से मकर राशि में शनि के साथ चल रहे बृहस्पति पांच अप्रैल 2021 दिन सोमवार को रात्रि 24:22 बजे अपनी राशि बदलकर कुंभ में आ जाएंगे। यद्यपि कुंभ राशि भी शनि की राशि है जो बृहस्पति की शत्रु राशि है। इसलिए देश और दुनिया के लिए अभी माहौल नहीं बदलेगा। अभी 13 महीने और यथावत चलता रहेगा। बृहस्पति 20 जून को वक्री होकर 14 सितंबर को पुनः मकर राशि में वापस आएंगे और 20 नवंबर तक मकर में ही रहेंगे, किंतु 20 नवंबर से और 13 अप्रैल 2022 तक कुंभ में ही विचरण करेंगे। इस राशि परिवर्तन का विभिन्न राशियों पर असर होगा। 

मेष: व्यवसाय अथवा नौकरी करने वाले व्यक्तियों को उनके परिश्रम का पूरा परिणाम मिलेगा। संतान प्राप्ति के योग बनेंगे. घर में धार्मिक-मांगलिक कार्य का अवसर आ सकता है. विद्यार्थियों के लिए समय अच्छा है, प्रतियोगिता में सफलता प्राप्त होने की उम्मीद है. आर्थिक रूप से ये गोचर आपके लिए अधिक अनुकूल है। संभावना है कि एक से अधिक आय के साधनों में वृद्धि हो।आप अपनी कई महत्वाकांक्षाओं की पूर्ति करने में सफल रहेंगे। विदेशी स्रोतों से आपको धनलाभ हो सकता है।15 सितंबर से 20 नवंबर तक ये आपके दशम भाव को प्रभावित करेंगे। ऐसे में आपको अपने कार्यक्षेत्र में कई समस्याएं आ सकती हैं, क्योंकि वहां पहले से मौजूद शनिदेव आपको भ्रमित करने का कार्य करेंगे।आपको अपने काम पर अधिक फोकस करने की जरूरत होगी। आपके पिता को स्वास्थ्य कष्ट दे सकते हैं।वर्ष के अंत में यानी 20 नवंबर को आपको अपने भाग्य का साथ मिलेगा। यह समय आपके लिए सबसे बेहतरीन समय साबित होगा।आपको अपने प्रेम जीवन में भरपूर सफलता मिलेगी। साथ ही दांपत्य जीवन में भी सुख की प्राप्ति होगी। लेकिन इस समय जितना संभव हो, अपने आलस्य को त्यागें अन्यथा नुकसान होगा। एकादश भाव में मौजूद गुरु बृहस्पति आपको अपार धनलाभ कराएगा।

उपाय : केसर का तिलक लगाएं।

वृष: समय-समय पर लाभ प्रतिष्ठा और सम्मान की प्राप्ति होगी। धन लाभ के नए-नए स्रोत बनेंगे। जमीन-जायदाद से जुड़े रुके कामों का निपटारा होगा, समाज में मान सम्मान मिलेगा, नौकरी पेशा से जुड़े लोगों को पदोन्नति मिल सकती है और व्यापार में भी लाभ होने की संभावना है. घर-परिवार में खुशियां और शांति ।आर्थिक पक्ष कुछ कमजोर हो सकता है। 15 सितंबर को गुरु बृहस्पति वक्री होते हुए वापस मकर में विराजमान हो जाएंगे। वो वहां वर्ष के अंत तक यानी 20 नवंबर तक उसी अवस्था में रहेंगे ।इस दौरान आपको अनेक यात्राओं पर जाने का मौका मिलेगा। पिता को स्वास्थ्य संबंधित परेशानियों में वृद्धि होगी।हालांकि आपके लिए यह अवधि शुभ रहेगी और आपको भाग्य का साथ मिलेगा। आपकी रुचि अध्यात्म की ओर बढ़ेगी।इसके बाद जब 20 नवंबर को गुरु बृहस्पति मार्गी होते हुए पुन: कुंभ में लौट आएंगे ,इससे कार्यक्षेत्र में बदलाव की स्थिति बनेगी। यदि आप नौकरी बदलने का सोच रहे थे तो स्थानांतरण के योग बनेंगे।पारिवारिक जीवन में सुख और शांति वापस लौट आएंगे। माता-पिता का स्वास्थ्य भी बेहतर होगा।

उपाय : बृहस्पतिवार के दिन जरूरतमंदों को भोजन कराएं।

मिथुन:धन लाभ लगातार होता रहेगा, किंतु व्यय की भी अधिकता रहेगी। घर में मंगल कार्यों में व्यस्त होने के योग हैं। आपकी धर्म-कर्म के मामलों में रुचि बढ़ेगी. सरकारी काम जो रुके हुए हैं वो पूरे हो जाएंगे, आपकी रणनीतियां कारगर साबित होंगी, नौकरी में तरक्की और आय के नए स्त्रोत बनने की उम्मीद है. जीवनसाथी से संबंध बेहतर होंगे। छात्रों को पढ़ाई के सिलसिले में घर से दूर जाना पड़ सकता है।15 सितंबर से 20 नवंबर तक मकर राशि में वापस विराजमान हो जाएंगे जिससे स्वास्थ्य संबंधित कई तरह की परेशानियां तकलीफ दे सकती हैं। धन के मामले में भी कुछ दिक्कत होगी।ससुराल पक्ष में किसी का स्वास्थ्य परेशान करेगा। पिता के लिए भी यह समय अच्छा नहीं है।20 नवंबर से आपकी परेशानी काफी हद तक कम हो जाएंगी।आपके भाग्य में वृद्धि होगी जिससे सभी काम बनने शुरू होंगे। पिता को लाभ मिलेगा।दांपत्य जीवन के लिए भी समय शुभ फल देगा। उसमें खुशियां आएंगी और आपके मान-सम्मान में वृद्धि होगी।आप धार्मिक कार्यों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते दिखाई देंगे, साथ ही प्रेम संबंधों में भी भरपूर सफलता प्राप्त होगी।

उपाय : बृहस्पतिवार के दिन केले के वृक्ष की परिक्रमा करें और उस पर चने की दाल अर्पित करें।

कर्क:- लाभ कम रहेगा। देनदारी अधिक होने से मानसिक परेशानी हो सकती है। क्रोध से बचें और लेन-देन में सावधानी बरतें। आकस्मिक धन लाभ हो सकता है तो वहीं दूसरी तरफ सामाजिक कार्यों में धन का खर्च अधिक होगा. नौकरी में पदोन्नति के अवसर मिल सकते हैं तो वहीं स्वास्थ्य खराब हो सकता है इसलिए सतर्क रहने की जरूरत है. आपका मन आध्यात्मिक कामों में अधिक लगेगा। दांपत्य जीवन में संतान पक्ष को भाग्य का साथ थोड़ा कम मिलेगा।पिता को स्वास्थ्य कष्ट संभव है। धनहानि होने के भी योग बनते दिखाई दे रहे हैं। न चाहते हुए भी किसी अनचाही यात्रा पर जाना होगा। यदि बैंक से लोन लेने की सोच रहे थे तो उसमें सफलता संभव है।15 सितंबर से 20 नवंबर तक मकर राशि में वापस विराजमान होते हुए आपके सप्तम भाव को प्रभावित करेंगे जिससे व्यावसायिक जातकों को व्यवसाय में जबर्दस्त सफलता मिलेगी।उत्तम धनलाभ होगा। घर-परिवार में आपके मान-सम्मान में वृद्धि होगी। लेकिन बावजूद इसके, दांपत्य जीवन में उतार-चढ़ाव बरकरार रहेगा, फिर भी जीवन में प्रेम की भरमार रहेगी। 20 नवंबर के बाद आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति पहले से ज्यादा सचेत रहने की जरूरत होगी।कोई पुराना पैसा लौट सकता है। आध्यात्मिक मामलों में बढ़ोतरी देखी जाएगी। छात्रों को गूढ़ विषयों को समझने में सफलता मिलेगी।

उपाय : गाय को चने की दाल अथवा हरी सब्जी खिलाएं।

सिंह: अनावश्यक चिंता एवं मानसिक तनाव बना रहेगा। किसी मित्र के संपर्क में आकर नया कार्य करने का योग हैं। पारिवारिक दायित्वों का निर्वहन भली प्रकार करेंगे। उन्हें नौकरी में मान-सम्मान मिलेगा, उच्चाधिकारियों का सहयोग मिलेगा. वहीं दूसरी तरफ स्वास्थ्य खराब हो सकता है जिस कारण खर्च में बढ़ोतरी हो सकती है और बजट गड़बड़ा सकता है. अविवाहित लोगों के इस अवधि में विवाह होने की संभावना रहेगी।वहीं जो लोग विवाहित हैं, उनके विवाहित जीवन में सुख का आगमन होगा और आपके जीवनसाथी को कार्यक्षेत्र में कोई बड़ा लाभ या मान-सम्मान प्राप्त होगा।आपकी आमदनी में भी लगातार बढ़ोतरी होगी। स्वास्थ्य के लिहाज से भी समय उत्तम रहेगा।15 सितंबर से 20 नवंबर तक मकर राशि में वापस विराजमान होते हुए आपके षष्ठम भाव को प्रभावित करेंगे जिससे आप अपना कोई बकाया कर्ज चुकाने में सफल होंगे।इस समय सेहत को लेकर सावधान रहें, क्योंकि किसी बड़ी बीमारी के संकेत दिखाई दे रहे हैं। इस बीमारी से आपके खर्चों में बढ़ोतरी होगी।हालांकि संतान को सुख मिलेगा, लेकिन मातृ पक्ष के लोगों से आपको कुछ समस्याएं हो सकती हैं।20 नवंबर से जीवन में भी खुशियां लौटती दिखाई देंगी।आपको जीवनसाथी का सहयोग मिलेगा। मेहनत के अनुसार सभी कामों में सफलता मिल सकेगी। आर्थिक पक्ष मजबूत होगा, साथ ही निर्णय क्षमता में वृद्धि होगी।प्रेम विवाह करने का विचार कर रहे जातकों को शुभ समाचार प्राप्त होगा।

उपाय : प्रत्येक बृहस्पतिवार के दिन पीपल को जल अर्पित करें।

कन्या: अपने विरोधियों से भी सावधान रहना है। परिवार में मंगल कार्य होने की संभावना है। अपने स्वास्थ्य का भी विशेष ध्यान रखें। छोटी-मोटी यात्रा का भी योग हैं। परिवार में हो रही किसी शादी में बजट से अधिक खर्च होगा, गुप्त शत्रुओं से बचें, कोर्ट कचहरी के मामले में न उलझें. भाग-दौड़ ज्यादा होगी जिस वजह से आपका तनाव बढ़ सकता है. समय शिक्षा के लिए अच्छा रहेगा। प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों को सफलता मिलेगी।अपने खान-पान का विशेष ध्यान रखें अन्यथा मोटापे में वृद्धि आपको परेशान कर सकती है। आप अपने खर्चों पर भी लगाम लगाने में असफल रहेंगे। कार्यक्षेत्र पर हर कार्य में कई रुकावटें आने से मन उदास रहेगा।वैवाहिक जीवन प्रतिकूल रहेगा, क्योंकि जीवनसाथी से संबंधों में दिक्कत आ सकती है, साथ ही किसी व्यक्ति से प्रॉपर्टी विवाद भी संभव है।इसके बाद 15 सितंबर से 20 नवंबर तक संतान पक्ष को स्वास्थ्य कष्ट होने से परेशानी हो सकती है।शिक्षा के लिए यह समय बहुत अच्छा रहेगा। पढ़ाई-लिखाई में छात्रों को कुछ अवरोध के बाद सफलता मिल सकेगी। आपकी आमदनी बढ़ेगी जिससे आपको मान-सम्मान की प्राप्ति होगी। 20 नवंबर से आपके स्वास्थ्य में अचानक से गिरावट दर्ज की जाएगी। दांपत्य जीवन भी तनावपूर्ण रहेगा और आपको अपने सुखों में कमी महसूस होगी।आर्थिक जीवन भी प्रभावित होने से खर्चों में बढ़ोतरी होगी जिससे तंगी होने की आशंका है।

उपाय : गुरुवार के दिन गौमाता को गुड़ और गेहूं खिलाएं।

तुला: कार्यकुशलता बढ़ेगी। संतान पक्ष से संतुष्टि रहेगी। राजनीतिक लोगों से संपर्क बढ़ेगा। प्रतिष्ठा एवं सम्मान के योग बन रहे हैं। बड़े-बुजुर्गों से सहयोग मिलेगा, संतान से जुड़ी कोई परेशानी दूर होगी, नौकरी में प्रमोशन मिल सकता है, यदि उच्च शिक्षा ग्रहण करने का विचार कर रहे थे तो उसके लिए भी समय अच्छा है।किसी नए मेहमान का आगमन संभव है। घर में किसी विवाहयोग्य सदस्य का विवाह संपन्न हो सकता है। ।धन से जुड़ी हर समस्या दूर होगी और आमदनी में बढ़ोतरी दिखाई देगी। यदि आप सिंगल थे तो आपके जीवन में किसी खास व्यक्ति का आगमन हो सकता है और दोस्तों से भरपूर सहयोग मिलेगा।15 सितंबर से 20 नवंबर तक माता को स्वास्थ्य से जुड़ी समस्या हो सकती है।यदि आप विदेश में रहते हैं तो इस समय आप अपने वतन लौटने का प्लान कर सकते हैं। पैतृक संपत्ति का लाभ मिलेगा,साथ ही जिन भी जातकों का प्रॉपर्टी से संबंधित कोई भी विवाद था तो उसमें सफलता मिल सकती है। इसके लिए आपको अपने प्रयास जारी रखने की जरूरत होगी।20 नवंबर से हर प्रकार का संतान सुख प्राप्त होगा। धन से जुड़ी हर आर्थिक तंगी भी दूर होगी।शिक्षा में सफलता मिलेगी। कार्यक्षेत्र पर आप किसी भी निर्णय को लेने में सक्षम महसूस करेंगे।

उपाय : रोजाना गाय को आटे की लोई पर हल्दी का तिलक लगाकर खिलाएं।

वृश्चिक: स्वास्थ्य का ध्यान रखें और खर्चों पर कंट्रोल रखें। नौकरी में प्रमोशन हो सकता है, पैतृक संपत्ति का लाभ मिल सकता है, नया वाहन, कोई कीमती वस्तु या भौतिक सुविधाओं वाली चीजें खरीद सकते हैं ,प्रॉपर्टी खरीदने के योग बनेंगे। माताजी का स्वास्थ्य खराब हो सकता है, जहां आपको धन खर्च करना पड़ेगा। संतान पक्ष के लिए भी समय अनुकूल नहीं दिखाई दे रहा।यदि आपकी संतान बाहर जाने का विचार कर रही है, तो उसे सफलता मिल सकती है। 15 सितंबर से 20 नवंबर तक आपको कई यात्राओं पर जाना पड़ेगा। इन यात्राओं में सफलता मिलेगी। आप अपने छोटे भाई-बहनों के प्रति अधिक संजीदा दिखाई देंगे।धार्मिक कार्यों में रुचि बढ़ेगी। संतान की तरक्की होगी। आर्थिक जीवन में भाग्य का साथ मिलेगा और अपार धन की प्राप्ति होगी। परिवार में चली आ रही तनातनी खत्म होगी।आप परिवार की मदद से किसी प्रॉपर्टी को खरीदने पर विचार करेंगे। हालांकि आपके घरेलू खर्च में वृद्धि होगी, क्योंकि आप घर पर अपना अच्छा-खासा धन खर्च करते दिखाई देंगे।

उपाय : पुखराज धारण करें।

धनु: कोई लंबित कार्य पूरा होने योग हैं।किंतु क्रोध पर नियंत्रण रखें। इससे आपको स्वास्थ्य हानि हो सकती है। नौकरी में नए और अच्छे अवसर मिलेंगे, धर्म और आध्यात्म में उनकी रुचि बढ़ेगी, संतान से जुड़ी समस्याएं दूर होंगी. विदेश यात्रा का अवसर मिल सकता है. विद्यार्थियों के लिए समय अच्छा है, उन्हें भी सफलता मिल सकती है. आपको कई छोटी यात्राओं पर जाने का अवसर मिलेगा। संभावना है कि आपको किसी तीर्थाटन पर जाना पड़े। परिवार में छोटे भाई-बहनों का प्रेम मिलेगा और आप उन्हें अपना हरसंभव सहयोग भी देते दिखाई देंगे।माता का स्वास्थ्य कुछ कमजोर रह सकता है, ऐसे में उनका ध्यान रखें ,आप अपनी किसी प्रॉपर्टी को किराए पर देने का विचार कर सकते हैं। माता से लाभ प्राप्त होगा। आप अपने परिवार के लोगों के प्रति सहानुभूति व्यक्त करेंगे। संभावना है कि आप में आलस्य की वृद्धि हो जिससे हर कार्य में आप बाधा महसूस करेंगे।धार्मिक आचरण में वृद्धि होगी, लेकिन आमदनी के योग बनेंगे। छोटे भाई-बहनों का साथ मिलेगा और उनके साथ किसी यात्रा पर जाना भी पड़ सकता है।

उपाय : गुरु के बीज मंत्र ‘ॐ ग्रां ग्रीं ग्रौं स: गुरुवे नम:’ का एक माला जप करें।

मकर: । परिवार में मंगल कार्य होंगे। व्यर्थ की चिंताएं बढ़ेंगी। मानसिक परेशानी से आपका स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है। परिवार के वरिष्ठ जनों का आशीर्वाद आपको मिलेगा। किसी तरह के षड्यंत्र का शिकार हो सकते हैं इसलिए समय रहते सावधान हो जाएं. किसी तरह के विवादित मामले को आपस में ही हल कर लें. जमीन जायदाद के मामले भी हल हो जाएंगें. । परिवार में खुशहाली का वातावरण दिखाई देगा।संभव है कि परिवार में किसी उत्सव या मंगल कार्यक्रम का आयोजन हो। किसी नन्हे मेहमान के आने के या किसी विवाहयोग्य सदस्य के विवाह के बंधन में बंधने के योग बन रहे हैं। व्यापारी वर्ग को विदेशों से धनलाभ होगा।20 नवंबर तक आपको अनुकूल परिणाम मिलेंगे। विदेशी स्रोतों से लाभ अर्जित करने में आप सफल रहेंगे।आपके अपने निजी प्रयासों से सफलता मिलेगी जिससे आप अपने कई महत्वपूर्ण निर्णय लेने में सफल हो सकते हैं।जब गुरुदेव पुन: मार्गी होंगे तो आपको अपनी वाणी में मधुरता का एहसास होगा जिससे आप दूसरों को अपनी ओर आकर्षित करने में सफल रहेंगे।आपके इस स्वभाव से आपका हर काम सफल होगा। इससे कार्यक्षेत्र पर आपकी आमदनी में भी बढ़ोतरी होगी, लेकिन आपको इस समय अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखने की जरूरत होगी।

उपाय : पीले मीठे चावल बृहस्पतिवार के दिन गरीबों में बांटें।

कुंभ: अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखना है क्योंकि प्रथम भाव में बृहस्पति शारीरिक विकार दे सकते हैं। संतान संबंधी चिंता दूर होगी, सामजिक पद-प्रतिष्ठा बढ़ेगी और विद्यार्थियों को सफलता मिलेगी. अपनी कोई भी योजना किसी और के सामने नहीं बतानी चाहिए और उसे गोपनीय रखना चाहिए. व्यापार के क्षेत्र में अब तक जो रुकावट आ रही थी वो दूर होगी. मानसिक तनाव से शांति मिलेगी। किसी भी निर्णय को लेने में सक्षम महसूस करेंगे। 15 सितंबर से 20 नवंबर कुछ परेशानियां आ सकती हैं। आपके खर्चों में जबर्दस्त बढ़ोतरी होगी।स्वास्थ्य के लिहाज से सतर्क रहना होगा अन्यथा कोई गंभीर समस्या हो सकती है। आमदनी में गिरावट होगी जिससे धनहानि होने की आशंका है।इसके बाद 20 नवंबर से आपकी परेशानियां दूर होंगी। आप निर्णय लेने में सफल होंगे।अनेक अटकी परियोजनाओं पर आप दोबारा विचार करते दिखाई देंगे। प्रेम संबंधों में सफलता मिलेगी।दांपत्य जीवन में भी प्रेम और खुशी लौटेगी। समाज में मान-सम्मान बढ़ेगा व आर्थिक पक्ष भी मजबूत होगा।

उपाय : बृहस्पतिवार के दिन जरूरतमंद विद्यार्थियों को शिक्षा की सामग्री भेंट करें।

मीन: 12 वें स्थान के बृहस्पति शुभ नहीं होते हैं। अनावश्यक खर्च के साथ साथ मिथ्या आरोप का भी योग बन सकता है। इसीलिए वाद-विवाद से बचें।, लेन-देन के मामलों में भी सावधान रहना होगा, बहुत अधिक भागदौड़ और बेवजह के खर्च का भी सामना करना पड़ सकता है. विदेश जाने की इच्छा रखने वाले जातकों के लिए शुभ रहेगा। अपने कार्यक्षेत्र के सिलसिले में किसी सुदूर यात्रा पर भी जाने का अवसर प्राप्त होगा जिस दौरान लाभ के लिए प्रयास करते रहने की जरूरत होगी। 15 सितंबर से 20 नवंबर तक हर कार्य में जबर्दस्त सफलता मिलेगी। कार्यक्षेत्र में वरिष्ठ अधिकारियों से अच्छे संबंधों का आपको इस समय लाभ मिलेगा।आपके धनलाभ के प्रबल योग बनेंगे और संभावना है कि कई माध्यमों से धनलाभ हो।धार्मिक आचरण से आप अपनी छवि को सुधार पाने में सफल होंगे। प्रेम संबंधों में सफलता मिलेगी जिससे आपका प्रेम विवाह भी संभव है।20 नवंबर को योग है कि आपको पैरों में दर्द की किसी समस्या से दो-चार होना पड़े।बावजूद इसके आप इस समय किसी विदेशी माध्यम से लाभ अर्जित करने में सफल रहेंगे। लेकिन आपके शत्रु आपको हर समय परेशान करते रहेंगे।यदि कोर्ट-कचहरी में कोई मामला चल रहा था तो इस समय उसका फैसला आपके विरोधी के पक्ष में आ सकता है।

उपाय : रोजाना देव गुरु बृहस्पति के बीज मंत्र ‘ॐ ग्रां ग्रीं ग्रौं स: गुरुवे नम:’ का एक माला जप करें।