गुरुपर्व के पावन पर्व पर समाजसेवी संस्थाओं ने कुष्ठ आश्रम और वृद्धा आश्रम में बांटे फल

 
चंडीगढ़: पहली पातशाही श्री गुरुनानक देव जी के 551वें प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में शहर की 02 समाजसेवी संस्थाओं ओंकार चैरिटेबल ट्रस्ट और द लास्ट बेंचर की तरफ से सेक्टर 47 स्थित कुष्ठ आश्रम और सेक्टर 15 स्थित वृद्धा आश्रम में सेब और केले बांटे गए। ओंकार चैरिटेबल ट्रस्ट के चेयरमैन रविंदर सिंह बिल्ला और द लास्ट बेंचर की प्रेजिडेंट सुमिता कोहली सहित संस्थाओं के सदस्यों शशि बाला, रेणु ठाकुर और निशा राणा ने कुष्ठ और वृद्धा आश्रम में जाकर इनके इन्मेट्स को फल बांटे और उनके संग पल बिताकर उनका कुशल क्षेम जाना।
ओंकार चैरिटेबल ट्रस्ट के चेयरमैन रविंदर सिंह बिल्ला और द लास्ट बेंचर की प्रेजिडेंट सुमिता कोहली ने बताया कि घर, परिवार, समाज में बुजुर्ग हमारे समाज का स्वाभिमान हैं, उनसे ही घर की रोनक है और वह हमारे समाज की अमूल्य धरोहर है, हम सब को मिलकर इनका आदर सम्मान करना चाहिए,, ताकि आगे चलकर  हम बच्चों को उत्साहित करते हुए उन्हें समझा सकें कि जिस घर में बुजुर्गों का सम्मान नहीं होता उस घर में कभी भी सुख समृद्धि और शांति सूकून एवं संतुष्टि नहीं मिलती है। उन्होंने कहा कि बाबा जी के “किरत करो-वंड छको” आज भी प्रासंगिक है।