गुरुपर्व पर नगर कीर्तन निकालने सरकारी नियमों की सख्ती से पालन करने पर चंडीगढ़ प्रशासन ने दी मंजूरी

 
चंडीगढ़: पहली पातशाही श्री गुरु नानक देव जी के पवित्र प्रकाश पर्व पर चंडीगढ़ शहर में 28 नवंबर को नगर कीर्तन निकाले जाने की चंडीगढ़ प्रशासन ने मंजूरी दे दी है। इसकी जानकारी मिलते ही सिख समुदाय में भारी खुशी की लहर दौड़ गई। समूह गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने इसको लेकर तैयारियां शुरू कर दी है और श्रद्धालुओं को कोरोना संकटकाल को मद्देनजर रखते हुए सरकारी नियमो की पालना करने की भी अपील की है।
सिख संगतों में खुशी की लहर |
गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा सेक्टर 19 के प्रेसिडेंट तेजिन्दर पाल सिंह एवम जनरल सेक्रेटरी इंद्रबीर सिंह ने बताया कि गुरुपर्व पर नगर कीर्तन निकाले जाने के लिए चंडीगढ़ प्रशासन के पास अप्लाई किया हुआ था, जिसकी मंजूरी बीते कल सांय मिली। उन्होंने बताया कि नगर कीर्तन में इस बार कुछ बंदिश रहेंगी, जैसे कि इस बार नगर कीर्तन का स्कूली बच्चे इस बार हिस्सा नही होंगे। इससे पूर्व नगर कीर्तन में शहर के 07 स्कूलों से लगभग 5000 बच्चे भाग लेते थे और अपनी विभिन्न गतिविधियों से श्रद्धालु संगत का मन मोह लेते थे।
सरकारी नियमों की नही होगी अवहेलना |
इस बार उनका न होना, खलेगा तो जरूर, लेकिन सरकारी नियमो और बच्चों के स्वास्थ्य से कोई खिलवाड़ नही होगा। उन्होंने आगे बताया कि सरकारी नियमों की अनदेखी न हो, इसके लिए स्पेशल सेवादारों की नियुक्ति की जाएगी।बाबा जी की पालकी के पास दर्शन करने और प्रसाद आने वाली संगत के सेवादारों द्वारा हाथ सैनिटाइज करवाए जाएंगे, तत्पश्चात ही उन्हें पालकी के पास जाने की इजाजत होगी। सरकारी नियमों के तहत फेस मास्क, सोशल डिस्टेन्सिंग का विशेष ख्याल रखा जाएगा। इसके अलावा नगर कीर्तन के दौरान माइक के जरिये लोगों को भी सरकारी नियमो की पालना के प्रति जागरूक किया जाएगा।

Leave a Reply