चण्डीगढ़ में मनाया कार फ्री डे

चण्डीगढ़ – भावी पीढ़ी को शुद्ध वातावरण देना समाज की नैतिक जिम्मेदारी है। इसके लिए सामुहिक प्रयास सफलता दिला सकती है। यह कहना है मान्यता है ओ पी सचदेवा जी का। पर्यीवरण और स्वस्थ का आपसी गहरा संबन्द है जो कि मधुर और मानवता के अनूकुल हो तो भावी पीढ़ी सुरक्षित हो सकती है। पर्यावरण मे लगातार विश्व स्तर पर हो रहे परिवर्तन एक अंतराष्ट्ीय समस्या और चिंता का विषय है। जलवायु में बदलाव भविष्य का खतरा हो रहा है और इससे मानवता के लिए गंभीर दुष्परिणाम हो सकते हैं। इसके समाधान हेतू युवा वर्ग को प्रेरित किया जाना चाहिए। भौतिक विज्ञान के सेवानिवृत प्राध्यापक ओम प्रकाश सचदेवा ने कहा कि मानव पृथ्वी लोक की सीमित जमीन को बढ़ाने में असमर्थ हैं परन्तु जनसंख्या पर नियत्रण में सक्षम हो सकता है । उन्होने कहा कि वातावरण में प्रदुष्ण स्वास्थ्य संकट का संकेत दे रहा है।

श्री सनातन धर्म दशहरा कमेटी सैक्टर 46 के प्रत्येक सदस्य ने अपनी तीसरी सप्ताहिक रविवारीय सभा में पालीथीन एवं प्लास्टिक आदि प्रयोग न करने का संकल्प लिया ।

दशहरा कमेटी के संरक्षक एवं पूर्व पार्षद श्री जतिंदर भाटिया ने स्वच्छता अभियान में पूर्ण सहयोग देने के लिए कमेटी के सदस्यों को प्रेरित किया और आज की सभा में स्मार्ट सिटी चंन्डीगढ़ को पोलिथीन एवं प्लास्टिक मुक्त कराने के लिए सदस्यों को शपथ दिलाई। दशहरा कमेटी सैक्टर 46 ने सभी सदस्यों को आह्नान किया की इस वार 22वें दशहरे में पटाके की मात्रा भी कुछ कम करने के लिए सदस्यों से सहमति ली ताकि प्रदुषण पर नियत्रण रखा जा सके

22 सितंबर को कार को इस्तेमाल न कर सभी सदस्य अपने निजी स्थानों से रविवारीय सभा में पैदल चलकर आए इस पर महा सचिव श्री सुशील सोवत ने सदस्यों की भरपूर प्रंशसा की। दशहरा कमेटी के प्रधान श्री नरेन्द्र भाटिया ने बताया कि इससे लोग स्वस्थ रहेंगे और आर्थिक वचत तथा वातावरण को प्रदुषण मुक्त रखने में सहायता मिलेगी।