चरित्र निर्माण में मातृशक्ति निभा सकती है अपनी अहम भूमिका: रासबिहारी

 

चंडीगढ़, सफीदों: विश्व हिंदू परिषद के तत्वाधान में महिला इकाई, मातृशक्ति एवं दुर्गावाहिनी सफीदों नगर की विशेष बैठक नगर के होली मोहल्ला स्थित प्राचीन श्रीराम मंदिर प्रांगण में आयोजित की गई। बैठक में बतौर मुख्यातिथि केंद्रीय अधिकारी एवं विशेष संपर्क प्रमुख रासबिहारी ने शिरकत की। वहीं बैठक में प्रांत मंत्री धर्म प्रचार विभाग थान मल, जिला जींद विशेष संपर्क प्रमुख राजेश जैन, जिला समरसता प्रमुख लाभ सिंह व विश्व हिंदू परिषद जिला मंत्री सुखेंद्र भी विशेष रूप से मौजूद थे।

बैठक की अध्यक्षता विश्व हिंदू परिषद सफीदों नगर अध्यक्ष जयदेव माटा ने की। विहिप के जिला उपाध्यक्ष अरविंद शर्मा, नगर अध्यक्ष जयदेव माटा व नगर उपाध्यक्ष यशपाल सूरी ने अतिथियों को श्रीराम पटका पहनाकर उनका अभिनंदन किया। बैठक का शुभारंभ केंद्रीय अधिकारी एवं विशेष संपर्क प्रमुख रासबिहारी ने ज्योति प्रज्वलित करके किया। बैठक में मौजूद मातृशक्ति एवं दुर्गा वाहिनी की महिला सदस्यों ने सुमधुर कीर्तनों की प्रस्तुति देकर वातारवरण को भक्तिमय बना दिया।

अपने संबोधन में मुख्यातिथि विशेष संपर्क प्रमुख रासबिहारी ने कहा कि माताएं अपने बच्चों का चरित्र निर्माण करने में अहम भूमिका निभा सकती हैं। महिलाओं को चाहिए कि वे हिंदू संस्कृति के अनुरूप अपने बच्चों का पालन-पोषण करें और उन्हे रामायण व गीता पाठ करने के लिए प्रेरित करें। नियमित मंदिर जाना, अपने बड़ों का सम्मान करना व संकीर्तन करना अपनी दिनचर्या में शामिल करना चाहिए। सत्संग-संकीर्तन करने से हिंदू समाज संगठित होगा तथा लव जिहाद पर अंकुश लगेगा। बहन बेटियों को सात्विक जीवन व्यतीत करना चाहिए। नगर अध्यक्ष जयदेव माटा व उपाध्यक्ष यशपाल सूरी ने मुख्यातिथि रासबिहारी को शॉल व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।

इस मौके पर प्रमोद गौतम, ओमप्रकाश वशिष्ठ, सत्यनारायण चौबे, नरेंद्र शर्मा, दर्शना गौतम, सुमन शर्मा, मधुबाला चौबे, नीलम गौतम, किरण शर्मा, कविता शर्मा, शिवानी, गरिमा, कुसुम, संतोष, संयोगिता, पूनम व बिमला प्रमुख रूप से मौजूद थीं।