चालू वित वर्ष में 1190 मैगावाट सोैर उर्जा का होगा उत्पादन-सरकारी भवनों की छतों पर लगाये जा रहे है सौर उर्जा प्लांट – डा0 बनवारी लाल

पंचकूला,10 जुलाई-   हरियाणा के जन स्वास्थ्य एवं अभियात्रिंकी,नवीनीकरण एवं नवीनीकरण उर्जा राज्य मंत्री डा0 बनवारी लाल ने कहा कि प्रदेश में सौर उर्जा को बढावा देने के लिये प्रदेश सरकार द्वारा बडे स्तर पर प्रयास किये जा रहे है। उन्होंने बताया कि चालू वित वर्ष में 1190 मैगावाट सोैर उर्जा उत्पादन का लक्ष्य निर्धारित किया गया है । इस लक्ष्य को हासिल करने के लिये स्कूलों,आंगनवाडी केन्द्रों,सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों,गौशलाओं तथा सरकारी भवनों की छतों पर सौर उर्जा प्लांट लगाये जा रहे है।
डा0 बनवारी लाल आज लोक निर्माण विभाग विश्राम गृह सैक्टर-1,पंचकूला में नवीन एवं नवीनीकरण उर्जा विभाग द्वारा आयोजित संगोष्ठी तथा राज्य स्तरीय पुरस्कार वितरण समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे। इस समारोह में पंचकूला के विधायक एवं मुख्य सचेतक ज्ञान चंद गुप्ता तथा कालका की विधायक श्रीमति लतिका शर्मा विशिष्ठ अतिथि के रूप में उपस्थित रहे।
राज्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश में 160 सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर सौर उर्जा प्लांट स्थापित किये जा चुके है और इस वर्ष 220 ऐसे स्वास्थ्य केन्द्रों में यह प्लांट स्थापित किये जायेगें। इसके अलावा 10$2 स्तर के राजकीय विद्यालयों में सौर उर्जा प्लांट लगाने के लिये बजट जारी किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि किसानों को सौर उर्जा पम्प लगाने के लिये प्रोत्साहित किया जा रहा है और इसके लिये किसानों को यह पम्प लगाने के लिये लागत खर्च पर 75 प्र्रतिशत अनुदान उपलब्ध करवाने का प्रावधान है। इसके लिये 1600 करोड बजट का प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि कोयले और पट्रौल से बिजली उत्पादन न केवल मंहगा है बल्कि इससे वातावरण में प्रदूषण भी अधिक फैलता है। उन्होंने  सौरउर्जा के प्रति लोगों को जागरूक करने की आवश्यकता पर बल दिया कि और कहा कि सरकार द्वारा किये जा रहे प्रयासों के सार्थक परिणाम भी सामने आ रहे है। उन्होंने कहा कि वर्ष 1995 से लेकर 2018 तक केवल 440 मैगावाट सौरउर्जा का ही उत्पादन हो चुका है और अब सरकार ने मात्र एक वर्ष में 1190 मैगावाट बिजली उत्पादन का संकल्प लिया है।
विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव टी0सी गुप्ता ने बताया कि सौरउर्जा को बढावा देने के साथ साथ उर्जा संरक्षण पर भी बल दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि किसानों को फाइव स्टार मोटर पम्प लगाने के लिये प्रेरित किया गया है और इसके लिये सरकार 35 हजार बजार कीमत वाले मोटर पम्प किसानों को 23 हजार रूपये में उपलब्ध करवायेगी। उन्होंने बताया कि गत वर्ष मुख्य मंत्री मनोहर लाल के आदेश पर पिछले 5 वर्षो से लम्बित 43 हजार कृषि नलकूप के कनैक्शन जारी करने के साथ साथ नये कनैक्शन के लिये दिसम्बर,2018 में प्राप्त 47 हजार आवेदनों पर भी तेजी से प्रक्रिया जारी कर दी गई है। सभी आवेदक किसानों को इन कनैक्शनों के लिये डिमाण्ड नोटिस जारी कर दिये गये है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 650 मैगावाट क्षमता के 10 सौरउर्जा उत्पादन पार्क भी विकसित किये जा रहे है।
नवीन एवं नवीनीकरण उर्जा विभाग की महानिदेशक डा0 रेणू फूलिया ने कहा कि विभिन्न विभागों द्वारा बनाये जाने वाले भवनों तथा निजी संस्थानों के लिये उर्जा सरंक्षण बिल्डिंग कोड 2017 की अनुपालना अनिवार्य की  गई है। इस तकनीक के आधार पर बनने वाले मकान न केवल उर्जा सरंक्षण में सहयोगी होंगे बल्कि एयर  कंडीशनरों के कारण वातावरण में फैलने वाले कार्बनडाईक्साइड प्रदूषण की समस्या से भी निजात मिलेगी। उन्होंने कहा कि सभी सरकारी भवनों में एल0इ0डी बल्वों का प्रयोग अनिवार्य किया गया है और यह बल्व 80 प्रतिशत बिजली की बचत करते है। 
आज के इस कार्यक्रम में राज्यमंत्री ने उर्जा संरक्षण में उल्लेख्नीय कार्य करने वाले सस्थानों को नगद पुरस्कार देकर सम्मानित किया। एक मैगावाट से उपर उर्जा संरक्षण के लिये राज्य स्तर का प्रथम पुरस्कार गुडइयर  इण्डिया लिमिटिड फरीदाबाद,एक मैगावाट से कम उर्जा सरंक्षण के लिये सहकारी चीनी मिल शाहबाद को,500 किलोवाट क्षमता के लिये उर्जा संरक्षण के लिये बीएसएनएल मेन टैलीफोन एक्सेंज तोशाम को सम्मानित किया गया। इसीप्रकार 30 किलोंवाट क्षमता में उर्जा संरक्षण हेतू गीता विद्या मन्दिर गल्र्ज कालेज,सोनीपत को प्रथम और राजकीय बहु तकनीकी संस्थान,मोरनी,पंचकूला को द्वितीय पुरस्कार दिया गया । आवसीय भवन की श्रेणी में उर्जा संरक्षण के लिये विल्ंिगटन एस्टेट कंडोमीनियम एसोशियेसन को पुरस्कृत किया गया । इस कार्यक्रम में वादविवाद प्रशनोतरी प्रतियोगिता के जोनल और राज्य स्तर के पुरस्कार विजेता विद्यार्थियों को भी सम्मानित किया गया । इस अवसर पर विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव टी0सी गुप्ता,महानिदेशक डा0 रेणू फूलिया,अतिरिक्त उपायुक्त उतम सिंह व अन्य अधिकारी उपस्थित थे ।