जनसैलाब के साथ नामांकन पत्र दाखिल करेंगी सैलजा

पंचकुला – अम्बाला लोकसभा से कांग्रेस प्रत्याशी कुमारी सैलजा सोमवार (आज) नामांकन पत्र दाखिल करेंगी। इससे पहले वे कार्यकर्ताओं के साथ अपने छावनी आवास से काफिले के साथ रवाना होंगी। शहर के मानव चौक पर हजारों कार्यकर्ता उनकी अगुवाई करेंगे। पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा खुद सैलजा का नामांकन पत्र दाखिल करवाने के लिए पधारेंगे। कांग्रेस के कई दिग्गज नेता इस दौरान मौजूद रहेंगे। उधर नामांकन पत्र के दौरान कार्यकर्ताओं की भारी भीड़ जुटाने के लिए रविवार दिनभर कांग्रेसी नेता बैठकों के जरिए रणनीति बनाते रहे। प्रचार अभियान के पांचवें दिन सैलजा ने पंचकुला में दो बड़ी जनसभाओं के जरिए कार्यकर्ताओं को चुनाव मैदान में डटने के आदेश दिए। साथ ही मौजूदा सांसद रतनलाल कटारिया पर भी हमला बोला।  
पूरे लोकसभा क्षेत्र से आएंगे कार्यकर्ता
सैलजा के नामांकन पत्र दाखिल करवाने के लिए अम्बाला लोकसभा की सभी नौ संसदीय क्षेत्रों से कार्यकर्ता अम्बाला पहुंचेंगे। इसके लिए सभी नेताओं की ड़्यूटियां लगाई गई हैं। कार्यकर्ता रोड शो की शक्ल सैलजा के साथ डीसी ऑफिस तक पहुंचेंगे। इसके लिए पूरा रोड मैप तैयार किया गया है। रोड शो के दौरान इस बात का खास ख्याल रखा जाएगा कि रोड शो के दौरान ट्रैफिक व्यवस्था को नुकसान न हो।  ढोल नगाड़ों के साथ कार्यकर्ताओं के यहां रंग बिरंगी वेशभूषाओं में पहुंचने की बात कही जा रही है। खासतौर पर नामांकन के लिए सैलजा के साथ महिलाओं की भारी भीड़ भी होगी। इसके लिए महिला नेताओं को जिम्मेदारी दी गई है। इसीलिए महिला कांग्रेस की कई दिग्गज भी अम्बाला पहुंच रही हैं।
भाजपा को झटका, शशि कांग्रेस में शमिल
सैलजा ने भाजपा को लगातार दूसरे दिन भी बड़ा झटका दिया है। पंचकुला में भाजपा के बड़े नेता शशि सैनी ने पार्टी छोड़कर सैलजा के समर्थन में कांग्रेस में शमिल होने का ऐलान कर दिया। शशि हरियाणा जनहित कांग्रेस की टिकट पर पंचकुला से विधानसभा का चुनाव लड़ चुके हैं। अब उनकी गिनती भाजपा के बड़े नेताओं में होती थी। रविवार को पंचकुला में आयोजित हुई बड़ी जनसभा में शशि सैनी ने कांग्रेस में शामिल होने की घोषणा कर दी। उन्होंने कहा कि अब लोकसभा चुनाव में कुमारी सैलजा की जीत में अहम भूमिका निभाएंगे।
विकास के नाम पर वोट मांगें कटारिया
राज्यसभा सांसद कुमारी सैलजा ने सांसद रतनलाल कटारिया पर एक बार फिर हमला बोला। पंचकुला में आयोजित दोनों जनसभाओं में सैलजा ने कहा कि हमारे सांसद पांच साल क्षेत्र से गायब रहे। अब जब चुनाव का समय आ गया तो उन्हें फिर क्षेत्र के लोगों की याद आ गई। सैलजा ने इस बात पर दुख जताया कि सांसद अपने विकास कार्यों की बजाय पीएम मोदी के नाम पर जनता से वोट मांग रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगर सांसद ने क्षेत्र के लिए कुछ किया होता तो वे विकास के नाम पर वोट मांगते लेकिन पांच साल में उन्होंने ऐसा कुछ किया ही नहीं है। सैलजा ने कहा कि अपने कार्यकाल में 100 करोड़ की लागत से इंस्टीच्यूट ऑफ फैशन टैक्नोलोजी की स्थापना मैंने की थी। जिरकपुर से परमाणु तक 412 करोड़ में नेशनल हाइवे को मंजूरी मेरे कार्यकाल में मिली। पिंजौर से कालका तक नेशनल हाइवे पर बाइपास का निर्माण मैंने करवाया था। एचएमटी पिंजौर को 1083 करोड़ का पैकेज मैंने मंजूर करवाया था। चंडीगढ़-पंचकुला से नारायणगढ़ बाया साढ़ौरा से यमुनानगर तक रेलवे लाइन के लिए 879 करोड़ रुपए मैंने मंजूर करवाए थे। सैलजा ने कहा कि सांसद महोदय केवल मेरी योजनाओं का ही श्रेय लेने में जुटे हैं। उन्होंने कार्यकर्ताओं से अपील की कि इस बार किसी के झूठे वायदों में आने की जरुरत नहीं है। नोटबंदी व जीएसटी से व्यापारियों हुए भारी नुकसान को लेकर भी सैलजा ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा।
समर्थन देने वालों का लगा रहा तांता
पूर्व केंद्रीय मंत्री सैलजा को रविवार को दिनभर समर्थन देने वालों का तांता लगा रहा। कई सामाजिक संस्थाओं के साथ धार्मिक संस्थाओं ने भी सैलजा को चुनाव में हर संभव सहयोग करने का ऐलान किया। इस दौरान इनेलो-बसपा व भाजपा छोड़कर भी काफी कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस में ज्वाइनिंग की। सैलजा ने कहा कि कांग्रेस में शमिल होने वाले सभी कार्यकर्ताओं को पूरा सम्मान मिलेगा। इस दौरान सैलजा ने नामांकन पत्र दाखिल करने की तैयारियों को लेकर भी कार्यकर्ताओं से बातचीत की। उन्हें ईमानदारी से वोटिंग के दिन अपनी जिम्मेदारी निभाने का भी आग्रह किया।