जलभराव से नष्ट हुई फसलों से किसानों के सामने आया आर्थिक संकट: अभय सिंह चौटाला

चंडीगढ़, 11 जनवरी: इनेलो प्रधान महासचिव एवं ऐलनाबाद के विधायक अभय सिंह चौटाला ने भारी बारिश के कारण खेतों में जलभराव से खराब हुई फसलों की विशेष गिरदावरी करवा कर किसानों को तुरंत मुआवजा देने की मांग की। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पिछले हफ्ते लगातार कई दिनों तक हुई बारिश से जलभराव के कारण खेतों में पानी खड़ा हो गया है जिस कारण से किसानों की गेहूं और सरसों समेत सब्जियों की फसल नष्ट हो गई है। गेहूं और सरसों की फसल खेतों में पूरी तरह से जमीन पर बिछ गई हैं। फसल नष्ट होने से अब किसानों के सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है।

गेहूं, सरसों समेत आलू, गोभी, गाजर, मूली, शिमला मिर्च और प्याज की फसलें हुई खराब l

बरसात के कारण हुए जलभराव से सबसे ज्यादा नुकसान आलू उत्पादक किसानों को हुआ है। आलू की फसल पक कर तैयार हो गई थी लेकिन जलभराव के कारण अब गलनी भी शुरू हो गई है। बारिश के कारण जहां गेहूं, सरसों और आलू उत्पादक किसानों को भारी नुकसान हुआ है वहीं गोभी, गाजर, मूली, शिमला मिर्च और प्याज की फसल भी खराब हो गई हंै। फसल खराब होने के कारण सब्जियों के दामों में भारी बढ़ोतरी हो गई है जिसका सीधा असर प्रदेश की आम जनता की जेब पर भी पड़ रहा है। लगातार कई दिनों तक हुई बरसात से गन्ना उत्पादक किसानों के गन्ने की छिलाई भी बुरी तरह से प्रभावित हुई है जिससे गन्ना फसल को भी भारी नुकसान हुआ है।

खराब फसलों की तुरंत विशेष गिरदावरी करवा कर पिछले साल के लंबित मुआवजे समेत प्रदेश के किसानों को तुरंत मुआवजा दे सरकार l

अभय सिंह चौटाला ने कहा कि भाजपा गठबंधन सरकार पूरी तरह से किसान विरोधी है, इसका सबसे बड़ा उदाहरण प्रदेश की जनता के सामने है कि पिछले साल मानसून के दौरान हुई भारी बरसात के कारण खराब हुई फसलों का मुआवजा आज तक किसानों को नहीं दिया गया है। मुख्यमंत्री स्वयं इस पर संज्ञान लेते हुए खराब फसलों की तुरंत विशेष गिरदावरी करवा कर पिछले साल के लंबित मुआवजे समेत प्रदेश के किसानों को तुरंत मुआवजा दे ताकि किसानों पर आए आर्थिक संकट को दूर किया जा सके।

Leave a Reply