जिमखाना क्लब पंचकूला सैक्टर 3: बिन चकने के सेवा में हाज़िर

पंचकूला: हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के आला अधिकारियों की बेगौरी के चलते सैक्टर तीन के जिमखाना क्लब में व्यवसायिक गतिविधियां ठप्प पडी हैं । बार खुला है, बीयर शराब पीने वाले क्लब मैंम्बर भी आ रहे हैं, मगर रेस्टोरेंट बंद रहने से उन्हें खाने के लिए कुछ नहीं मिलता । ना स्नैक्स ना ही भोजन ।

लाकडाउन के चलते मार्च महीने से बंद हुए शहर  के कुल तीन जिमखाना क्लबों में से सैक्टर 6 ओर एम डी सी के क्लब पूरी तरह से चल रहे हैं, लेकिन सैक्टर तीन के क्लब को अफसरों की लापरवाही के चलते ना केवल लाखों रुपए का नुकसान उठाना पड़ रहा है अपितु क्लब आने वाले मैंम्बरो को भी खाना नहीं मिल पा रहा है ।

उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस के चलते मार्च में ढाबे, रेस्टोरेंट, स्वीट्स शाप  तथा क्लब आदि बंद कर दिए गए थे । परंतु कई महीने पहले सोशल डिस्टैनसिंग का पालन करने की शर्त पर इन्हें खोल दिया गया था । परन्तु जिमखाना क्लब 3 का रेस्टोरेंट चालू नहीं हो पाया । जबकि बार तथा अन्य गतिविधियां शुरू हो चुकी हैं ।

वजह ?

रैस्टोरैंट में पिछला  कैटरिंग प्रोवाइडर भारी नुकसान के चलते कई महीने पहले ही क्लब छोड कर जा चुका  है । महीनों की लेटलतीफी के बाद नया कैटरिंग प्रोवाइडर लगाने के लिए इक्कीस अक्तुबर को समाचारपत्रों में शार्ट टर्म टैंडर प्रकाशित कराया गया, इसमें दो फर्मो ने हिस्सा लिया और इनकी टैक्नीकल बिड 28 अक्तुबर को खोली गई । नियमानुसार  शार्ट टर्म टैंडर को एक या दो सप्ताह के भीतर ही फाइनल करके अलाट करना होता है ।

लेकिन टैंडर सबमिट होने के पच्चीस दिन गुजर जाने के बाद ओर टैक्नीकल कमेटी द्वारा सिफारिश के बावजूद अब तक क्लब के जी एम ने बिड पर साइन   नहीं किए। जिसकी वजह से किसी भी कैटरर को रैस्टोरैंट चलाने का टैंडर नहीं हो सका है । इसका खामियाजा क्लब में आने वाले मैम्बर्स को भुगतना पड़ रहा है क्योंकि बार में के्वल बीयर व्हिस्की उपलब्ध है, रेस्टोरेंट ना चलने की वजह से मेम्बर्स को स्नेक्स ओर खाना नहीं मिल पाता ।

Leave a Reply