देश के संतों ने कुंभ समापन का निर्णय लेकर मानवता की सेवा का एक महान संदेश: श्री रतनलाल कटारिया

पंचकूला, अप्रैल 18: केंद्रीय जल शक्ति एवं समाजिक न्याय अधिकारिता राज्य मंत्री श्री रतनलाल कटारिया ने कहा है की आचार्य महामंडलेश्वर “स्वामी अवधेशानंद गिरी ” एवंम अन्य संतो ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की अपील पर कुंभ के समापन की घोषणा की है !

कटारिया ने कहा कि मानवता की दृष्टि से भारत के संतों ने यह उल्लेखनीय कदम उठाया है । आज जिस तरह से एक दिन में 234692 से भी ज्यादा करोना केसो की संख्या बढ़ गई है और आज 1679740 केस देश में एक्टिव है , कल ही 1341 लोगों की एक दिन में मृत्यु हुई है और भारत में अब तक 175649 लोग अकाल मृत्यु का दर्द झेल चुके है , भारत में एक वर्ष में कोरोना संक्रमण के 1,45,26,609 मामले अब तक हो चुके हैं ऐसी परिस्थितियों में देश के संतों ने कुंभ समापन का निर्णय लेकर मानवता की सेवा का एक महान संदेश दिया है !

रतनलाल कटारिया ने संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओ से भी अपील की वे भारत में करोना के बढ़ते हुए केसों को मध्य नजर रखते हुए अपने आंदोलन को तुरंत बंद कर दे ।

रतनलाल कटारिया ने कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में करोना संक्रमण हैंडलिंग को लेकर प्रधानमंत्री की आलोचना को गैर जिम्मेदार और राजनीति से प्रेरित बताया । उन्होंने यह भी बताया कि भारत ने एक दिन में 14,95000 कोरोना सैंपल लेकर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है अब तक भारत में 26.49 करोड़ करोना सैंपल लिए गए हैं जो कि एक विश्व रिकॉर्ड है !
रतनलाल कटारिया ने कहा कि मोदी जी एकमात्र विश्व के नेता हैं जिन्होंने पिछले एक वर्ष में कोरोना को लेकर 310 से ऊपर बैठके ली हैं । कल ही उन्होंने वेंटीलेटर,ऑक्सीजन और दवाइयों की उपलब्धता कि समीक्षा की और टीको का उत्पादन बढ़ाने के लिए अधिकारियों को सार्वजनिक एवंम निजी क्षेत्रों में मौजूद सभी क्षमताओ का इस्तेमाल करने का निर्देश दिया, उन्होंने कहा कि राष्ट्र ने पिछले साल भी एकजुट होकर करोना को परास्त किया था और अब भी सारा राष्ट्र मिलकर करोना को हराएगा ।ऐसी स्थिति में कांग्रेस पार्टी द्वारा अपने राजनीतिक उद्देश्यों की पूर्ति के लिए सरकार की आलोचना करना बईमानी है ।
रतनलाल कटारिया ने कहा कि देश में न ही वैंटीलैटर की कमी है न ऑक्सीजन की कमी है ना दवाइयों की कमी है और न ही मास्क की कमी है । उन्होंने कहा कि आओ हम सब मिलकर दो गज की दूरी व् मास्क पहनना और समय-समय पर प्रशासन द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करे।