पंचकुला नगर निगम की सामान्य बैठक में सभी 19 प्रस्तावों पर लगी मोहर

 

पंचकूला, 30 जून: नगर निगम महापौर कुलभूषण गोयल की अध्यक्षता में नगर निगम पंचकूला की सामान्य बैठक आज सेक्टर-14 स्थित किसान भवन में आयोजित की गई, जिसमें सभी 19 प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित किये गये। बैठक में हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता और उपायुक्त एवं नगर निगम आयुक्त श्री विनय प्रताप सिंह भी उपस्थित थे।

पंचकूला के विकास के लिये, लीये गये अनेक अहम फैसले l

बैठक में नगर निगम के अधीन आने वाले छोटे बड़े पार्कों के रखरखाव के लिये गठित पार्क डवैल्पमैंट सोसायटी के रेट को बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। इसके अनुसार छोटे पार्कों के रेट को 3 रुपये से बढ़ाकर 5 रुपये तथा बड़े पार्कों का रेट 3 रुपये से बढ़ाकर 4 रुपये किया गया। साथ ही कोविड को देखते हुये पार्क डवेल्पमेंट सोसायटी के एग्रीमेंट तीन महीने तक बढ़ाये गये है और नई सोसायटी के एग्रीमेंट एक साल की बजाय दो साल के लिये किये जायेंगे। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया है कि निगम में 62 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के कार्यरत सभी कर्मचारियों को तुरंत प्रभाव से हटाया जायेगा और भविष्य में भी 62 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के किसी भी कर्मचारी की भर्ती निगम में नहीं की जायेगी।

बैठक में निर्णय लिया गया कि निगम में एक फाईनेंस तथा काॅन्ट्रेक्ट समिति का गठन किया जायेगा, जिसका उद्देश्य निगम द्वारा विभिन्न विकास कार्यों के लिये काॅन्ट्रेक्ट व एग्रीमैंट को अंतिम रूप देना होगा। विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता के सुझाव पर यह निर्णय लिया गया कि इस समिति में एक सदस्य सत्ता पक्ष व दूसरा सदस्य विपक्ष से शामिल किया जायेगा ताकि इस प्रक्रिया में पारदर्शीता सुनिश्चित की जा सके।

बैठक में पंचकूला नगर निगम के क्षेत्र में आने वाले कम्यूनिटी सेंटरस के रेट को संशोधित करने का निर्णय लिया गया ताकि आम आदमी भी तय की गई फीस को जमा करवा सके। निर्णय के अनुसार गांव में कम्यूनिटी सेंटर के लिये 5 हजार रुपये, शहर में एक एकड़ तक के छोटे कम्यूनिटी सेंटर के लिये 11 हजार रुपये व बड़े कम्यूनिटी सेंटर के लिये 21 हजार रुपये निर्धारित किये गये है। इसके अलावा कम्यूनिटी सेंटरस में लोगों के लिये खेल गतिविधियों व लाईबे्ररी आदि के लिये 500 रुपये प्रतिमाह प्रति व्यक्ति के हिसाब से मेंबरशिप फीस तय की गई। साथ ही हर कम्यूनिटी सेंटर के लिये अलग से मैनेजमेंट कमेटी का गठन किया जायेगा, जिसमें स्थानीय काउंसलर, एसडीओ, जेई के अलावा चार जनता के नुमाईंदों को शामिल किया जायेगा।

शाॅलीमार माॅल के प्रोपर्टी टैक्स से संबंधित मामले में कड़ा संज्ञान लेते हुये निगम की कमेटी बनाने का निर्णय लिया गया है, जिसमें दो सदस्य एक सत्ता पक्ष व दूसरा विपक्ष की ओर से शामिल होगा। यह कमेटी नये सिरे से शाॅलीमार माॅल के प्रोपर्टी टैक्स का पूर्नमूल्यांकन करेगी। इसके साथ ही यह निर्णय भी लिया गया कि पंचकूला क्षेत्र में बकाया प्रोपर्टी टैक्स की वसूली के लिये सख्त कदम उठाये जायेंगे और जिन्होंने अभी तक प्रोपर्टी कर जमा नहीं करवाया है, उनके खिलाफ नियमानुसार सख्त कार्रवाही अमल में लाई जायेगी। इसके अतिरिक्त जिनकी बकाया प्रोपर्टी राशि एक लाख रुपये से ज्यादा है, उनको नोटिस देकर सील किया जायेगा।

नगर निगम क्षेत्र में पालतू कुत्तो के पंजीकरण के लिये राज्य सरकार द्वारा बनाये गये बाॅयलाॅज को अपनाया जायेगा। नगर निगम के एएसआई अपने-अपने अधिकार क्षेत्रों में इन बाॅयलाॅज के हिसाब से कुत्तो का पंजीकरण करवाने के लिये जिम्मेदार होंगे। इसके अलावा गांव सुखदर्शनपुर गौशाला को आर्थिक सहायता के रूप में 3 लाख रुपये प्रतिमाह दिया जायेगा ताकि पंचकूला शहर से जाने वाली गायों का रखरखाव उचित ढंग से किया जा सके। बीमार व जख्मी गायों के इलाज के लिये नगर निगम द्वारा संचालित डाॅग केयर सेंटर को गायो के अस्थाई अस्पताल के रूप में भी प्रयोग किया जायेगा।

पंचकूला नगर निगम के अंतर्गत पड़ने वाले मोबाईल टाॅवर व टेलीफोन लाईनस के लिये निगम को कोई भी भुगतान न करने पर कड़ा संज्ञान लेते हुये बैठक में महापौर कुलभूषण गोयल ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वह बकाया राशि की रिकवरी का काम तुरंत प्रभाव से शुरू करें और यदि कोई कंपनी भुगतान नहीं करती तो उनके कनैक्शन तुरंत प्रभाव से काट दिये जायें। श्री गुप्ता ने कहा कि ऐसी टेलीकाॅम कंपनिज के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जानी चाहिये जो बिना अनुमति के लाईन बिछाने के लिये खुदाई का कार्य करती है।

बैठक में वेंडर्स के लिये नई वेंडिंग जोन समिति बनाने का निर्णय लिया गया है, जिसमें दो पार्षद व दो प्रबुद्ध व्यक्तियों को शामिल किया जायेगा। महापौर कुलभूषण ने कहा कि जिन वेंडर्स ने अभी तक वेंडिंग जोन में अलाट की गई साईट पर कब्जा नहीं लिया है, उन्हें नोटिस जारी किये गये है। अगर 15 दिन में उनकी तरफ से साईट पर कब्जा नहीं लिया जाता तो निगम द्वारा उस साईट को किसी अन्य वेंडर को अलाट कर दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि भारत की ब्रान्डेड कंपनिज के लिये क्षमता, लोकप्रियता एवं मांग के अनुसार जगह को अलाट किया जायेगा।

बैठक में सेक्टर-11 में बहुस्तरीय पार्किंग बनाने का निर्णय लिया गया हैं, जिसके लिये शीघ्र ही हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण को उपयुक्त स्थान पर भूमि अलाट करने के लिये लिखा जायेगा। बैठक में बताया गया है कि नगर निगम पंचकूला द्वारा पंचकूला शहर के सभी 8 एंट्री प्वाईंटस पर प्रवेशद्वार बनाये जायेंगे, जिसमें से एक प्रवेश द्वार का काम आरंभ हो चुका है जबकि दूसरे प्रवेशद्वार के लिये टेंडर अलाट कर दिये गये हैं। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि शहर को और सुंदर बनाने के लिये सभी चैको पर सजावटी लाईटस लगाई जायेंगी ताकि पंचकूला शहर सुंदर और आकर्षित लगे। इसके अलावा चार स्थानों पर इवनिंग और नाईट फूड स्ट्रीट खोली जायेंगी ताकि शहरवासियों को ताजा और स्वच्छ खाने की सुविधा उपलब्ध हो सके।

महापौर कुलभूषण गोयल ने निर्देश दिये कि नगर निगम की 1711 एकड़ जमीन को चिन्हित कर तारबंदी की जाये तथा वहां पर नगर निगम पंचकूला के बोर्ड लगाये जाये। इस पर नगर निगम आयुक्त श्री विनय प्रताप सिंह ने आश्वासन दिया कि आगामी 45 दिन में यह कार्य पूरा कर लिया जायेगा। श्री गोयल ने कहा कि चंडीमंदिर में नगर निगम की जमीन पर एजुकेशन और रिक्रियेशन सिटी बनाने की योजना जल्द से जल्द तैयार की जायेगी। उन्होंने कहा कि अवैध गांवों व काॅलोनियों जैसे बीड घग्गर, राजीव काॅलोनी, इंदिरा काॅलोनी, खडक मंगोली, भैसा टिब्बा आदि में मूलभूत सुविधायें जैसे छोटे नालों पर पुल, स्ट्रीट लाईट, पक्की गलियों का निर्माण आदि को प्राथमिकता के आधार पर पूरा करने के लिये राज्य सरकार को प्रस्ताव भेजा जायेगा। बैठक में निगम की बागवानी शाखा और सेनीटेशन शाखा में वाहन की खरीद के अलावा जेसीबी व फायर स्टेशन के लिये हाईड्रोलिक लेडर खरीदे जाने का निर्णय लिया गया।

बैठक में निर्णय लिया गया कि घायल हुये व अतिक्रुद्ध कुत्तो को पकड़ने व रखरखाव के लिये एक डाॅक्टर, दो वीएलडीए, पांच डाॅग केचर, एक ड्राईवर गाड़ी सहित व दो कर्मचारी कुत्तों को खाना खिलाने के लिये भर्ती किये जायेंगे। बैठक में बताया गया कि अब से नगर निगम के अपने बनाये हुये सार्वजनिक शौचालयों के रखरखाव का कार्य नगर निगम पंचकूला के कर्मचारियों द्वारा किया जायेगा। अभी तक समझौते के अनुसार यह कार्य शुल्भ इंटरनेशनल द्वारा किया जा रहा था, जिसका कार्य संतोषजनक नहीं पाया गया।

इस अवसर पर नगर निगम के संयुक्त आयुक्त संयम गर्ग, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण की संपदा अधिकारी ममता शर्मा, उपनगर निगम आयुक्त दीपक सूरा, अमन ढांडा, कार्यकारी अधिकारी केके यादव, अधीक्षक अभियंता विजय गोयल व 19 वार्डों के पार्षद व विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।