पंचकुला में बंद पड़े उद्योग व पालयन कर रहे उद्योगों को किसी प्रकार की रियायतें ना देने से व्यापारी व उद्योगपतियों में सरकार के प्रति नाराजगी – बजरंग गर्ग

पंचकूला – व्यापारी प्रतिनिधियों की एक आवश्यक बैठक व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष व हरियाणा कान्फैड के पूर्व चेयरमैन बजरंग गर्ग की अध्यक्षता में सेक्टर 12ए में हुई। इस बैठक में वार्षिक बजट व प्रदेश में खराब आर्थिक स्थिति पर विचार किया गया।

सरकार की गलत नीतियों से पंचकूला में लगातार उद्योग पलायन कर रहे हैं – बजरंग गर्ग

व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने उपस्थित प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कहा कि हरियाणा सरकार ने हरियाणा को लगभग दो लाख करोड़ का कर्जा चढ़ाकर प्रदेश के हर व्यक्ति पर 80 हजार रुपए का बोझ डाल दिया है। इस बजट से प्रदेश का व्यापारी, उद्योगपति, किसान, युवा, कर्मचारी व हर वर्ग के लोगों को निराशा हाथ लगी है। प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने कहा कि व्यापारी व उद्योगपतियों को उम्मीद थी कि सरकार पंचकुला के साथ-साथ हरियाणा में व्यापार व उद्योग को बढ़ावा देने के लिए बजट में काफी रियायतें देगी। जबकि इस सरकार ने तो पंचकूला में जो लगातार उद्योग बंद हो रहे हैं व हिमाचल प्रदेश बद्दी में जो उद्योग पलायन कर चुके हैं उन्हें पंचकूला में चालू करने के लिए भी उद्योगपतियों को किसी प्रकार की रियायतें ना देने से व्यापारी व उद्योगपतियों में सरकार के प्रति बड़ी भारी नाराजगी है। जबकि सरकार ने पंचकूला इंडस्ट्रियल एरिया को जनरल करके यह सिद्ध कर दिया है कि सरकार की गलत नीतियों से पंचकूला में लगाता उद्योग पलायन कर रहे हैं। पंचकूला में व्यापार व उद्योग पिछड़ने के कारण बैहताशा बेरोजगारी बड़ी है। एक तरफ सरकार युवाओं को उद्योगों में 75 प्रतिशत नौकरी देने की बात कर रही है दूसरी तरफ बंद हो रहे व पलायन कर रहे उद्योगों को रोकने के लिए व नए उद्योग धंधे स्थापित करने के लिए बजट में किसी प्रकार की राहत ना देकर यह सिद्ध कर दिया है कि यह सरकार व्यापारी व उद्योगपतियों की विरोधी है। प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने कहा कि जब तक सरकार उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए उद्योगपतियों को सस्ती जमीन, कम ब्याज पर लोन, बिजली बिलों में सब्सिडी व अन्य सुविधा नहीं देती व पंचकूला जिला के उद्योगपतियों को पड़ोसी राज्य हिमाचल व उत्तराखंड प्रदेश सरकार की तर्ज पर उद्योगपतियों को छूट नहीं देती तब तक कोई भी उद्योगपति पंचकूला जिला में उद्योग लगाने के लिए गलती नहीं करेगा। जब तक पंचकूला व हरियाणा में उद्योगों को बढ़ावा नहीं मिलता तब तक बेरोजगारी को कम नहीं किया जा सकता। पंचकूला व प्रदेश में व्यापार व उद्योग को बढ़ावा देने से लाखों बेरोजगारों को रोजगार मिलेगा और प्रदेश की जो आर्थिक स्थिति खराब हो चुकी है उसमें पूरी तरह सुधार होगा। इसलिए सरकार को बेरोजगारों को रोजगार देने के लिए व प्रदेश की अर्थव्यवस्था में सुधार लाने के लिए व प्रदेश के विकास के लिए व्यापार व उद्योग को बढ़ावा देने के लिए ज्यादा से ज्यादा सुविधा देनी चाहिए। इससे सरकार को भी पहले से कहीं ज्यादा राजस्व की प्राप्ति होगी। इस बैठक में व्यापार मंडल के प्रदेश कानूनी सलाहकार वैभव जैन एडवोकेट, पंचकूला राजेश सेठ यमुनानगर, प्रदेश सचिव तरसेम गर्ग अंबाला, प्रदेश प्रचार मंत्री राजीव गुप्ता कैथल, युवा व्यापार मंडल के प्रदेश प्रभारी राहुल गर्ग, डीके जैन, जिला पंचकुला विकास संगठन के प्रधान विवेक सिंगला, अंकित एडवोकेट आदि प्रतिनिधि मौजूद थे।