पंचकूला में राज्य स्तरीय विश्व एड्स दिवस समारोह दिवस – हरियाणा विधानसभा के अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता

प्ंाचकूला,2 दिसम्बर-      पंचकूला के रेड विशॉप में राज्य स्तरीय विश्व एड्स दिवस समारोह दिवस आयोजित किया गया। समारोह के मुख्य अतिथि हरियाणा विधानसभा के अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता रहे। स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा, स्वास्थ्य विभाग के महानिदेशक डॉ सूरज भान कंबोज, एड्स कंट्रोल सोसाइटी की प्रोजेक्ट डायरेक्टर डाॅ. वीना सिंह  सहित स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारी व कर्मचारी भी उपस्थित रहे।
इस अवसर पर स्पीकर ज्ञान चन्द गुप्ता ने कहा कि विश्व एड्स दिवस मनाने का ध्येय लोगो को एचआईवी एड्स के बारे में जागरूक करना तथा इससे पीड़ित मरीजों की टेस्टिंग करके उन्हें दवाई प्रदान करना है। उन्होंने कहा कि एड्स कंट्रोल सोसाइटी ने सड़क किनारे बने ढाबे व स्लम क्षेत्रों व गर्भवती महिलाओं, ट्रक यूनियनों के बीच जाकर  उन्हें जागरूक किया व एचआईवी टेस्ट करवाने के लिए प्रेरित किया। स्वास्थ्य विभाग की इस निगरानी के चलते हरियाणा में एड्स के मरीजों की संख्या में कमी आई है।
उन्होंने कहा कि एड्स कंट्रोल सोसाइटी ने एड्स से ग्रसित रोगियों की समाजिक अवहेलना को दूर करने के बारे में समाज को जागरूक किया हैं। उन्होंने कहा कि इस वर्ष का थीम भी- कम्युनिटी मेक द डीफरेंस- यानि सामुदायिकता की भावना से होने वाला सुधार है। उन्होंने कहा कि एड्स के खिलाफ इस लड़ाई में केवल स्वास्थ्य विभाग ही काफी नहीं है। इसमें परिवार, समाज व समुदाय सभी को एड्स के मरीजों की अवहेलना के दोष को दूर करना होगा। उन्होंने कहा कि कई बार देखने में आया है कि एड्स के मरीज इस अवहेलना और आत्म-ग्लानि के भय से न तो अपना रोग बताते है और न ही अपना ईलाज करवाने आते है। एड्स कंट्रोल सोसाइटी ने न केवल लोगो का ईलाज करवाया है अपितु लोगो को भी शिक्षित किया है। इस दौरान श्री गुप्ता ने ईएसआई हाॅस्पिटल यमुनानगर, भिवानी, फरीदाबाद, पानीपत मे काऊंसलिंग के लिए आईसीटीसी केेन्द्रों व पानीपत मे एड्स के मरीजों के ईलाज के लिए के एआरटी केन्द्र का सिम्बोलिक उद्घाटन भी किया । उन्होंने पंचकूला में भी एआरटी केन्द्र खोलने के लिए जोर दिया।
इस अवसर पर अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा ने बताया कि हरियाणा में  2017 में 4 लाख , 2018 में 12 लाख व 2019 में 16 लाख लोगों की एचआईवी को लेकर टेस्टिंग की गई है। इसका मुख्य मकसद लोगों को टेस्टिंग के माध्यम से एड्स के मरीज को चिन्हित करना है। चिन्हित मरीज का पूरा इलाज हरियाणा एड्स कंट्रोल सोसाइटी द्वारा निःशुल्क किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि एचआईवी मरीजों की अधिकता नशा लेने वालों की भी बढ़ रही है।इसलिए स्वास्थ्य विभाग के समक्ष अब दोहरी चुनौती है। नशे लेने वाले को नशे से रोकना व साथ साथ एचआईवी के बारे जागरूक करना। इस वर्ष विश्व एड्स दिवस का थीम भो समुदायिक जागरूकता है।
इस अवसर पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा एड्स जागरूकता को लेकर सभी उपस्थित लोगों को एड्स जागरूकता की शपथ दिलाई गई व ततपश्चात एक रैली का भी आयोजन किया गया । जिसमें 33 साईकिल व 45 ई- रिक्शा और गाड़ियों को शामिल कर लोगों को जागरूक करने के लिए जिले भर में रवाना किया गया ।

Leave a Reply