पेट की बड़ी नस के दुर्लभ कैंसर का सफलतापूर्वक इलाज किया गया

मोहाली/ 5 फरवरी – इन्फिऱीर वेना कावा (IVC) के एक दुर्लभ कैंसर से पीडि़त 45-वर्षीय मरीज का हाल ही में मोहाली के आइवी अस्पताल में सफल इलाज किया गया। IVC पेट में एक बड़ी नस होती है जो निचले और मध्य शरीर से हृदय में रक्त पहुंचाती है।
डॉ विजय बंसल, चीफ  कैंसर सर्जन, डॉ अविनाश श्रीवास्तव, किडनी ट्रांसप्लांट सर्जन व डॉ श्रीनाथ वैस्कुलर सर्जन , आईवी अस्पताल द्वारा यह जटिल सर्जरी की गई ।
बुधवार को आइवी अस्पताल में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए, डॉ बंसल ने बताया कि रोगी के पेट में 30X25 सेमी का  विशाल ट्यूमर था। यह घातक कैंसरग्रस्त मांसपेशी ट्यूमर , शरीर की बड़ी नस IVC और बाएं किडनी के जंक्शन से उत्पन्न हो रहा था ।
उन्होंने बताया, यह IVC   का एक दुर्लभ ट्यूमर था जिसकी सर्जरी बहुत जटिल थी । सर्जरी 6 घंटे तक चली , जहां हमने IVC से कैंसरग्रस्त ट्यूमर को हटाया। चूंकि ट्यूमर बायीं किडनी के पास भी था, इसलिए कैंसरग्रस्त ट्यूमर को निकालने के लिए IVC के साथ लेफ्ट किडनी नस का भी ऑटो ट्रांसप्लांट किया गया।
डॉ बंसल, जो टाटा मेमोरियल हॉस्पिटल, मुंबई में अपनी सेवाएँ दे चुके है, ने कहा कि हाई रिस्क और विशाल ट्यूमर के कारण यह सर्जरी बहुत जटिल थी और यह आइवी अस्पताल में सुपर-स्पेशियलिटी टीम और बेहतरीन उपकरणों की उपलब्धता के कारण ही संभव थी । सर्जरी के दौरान किडनी और किसी भी महत्वपूर्ण अंग का त्याग किए बिना ट्यूमर को पूरी तरह से हटाया गया । रोगी अब पूरी तरह से ठीक है और वह बिना किसी जटिलता के काम कर रहा है ।