फार्म फॉरेस्ट्री क्लोनल योजना के तहत लगाए जाएंगे नि:शुल्क पौधे

 

चंडीगढ़, सफीदों: राज्य सरकार द्वारा प्रदेश को हराभरा बनाने के लिए फार्म फॉरेस्ट्री क्लोनल योजना की शुरुआत की गई है। सरकार की इस योजना के तहत सफीदों क्षेत्र में 1 लाख 25 हजार पौधे रोपित किए जाएंगे। यह सफेदे के पौधे किसानों के खेतों में नि:शुल्क लगवाए जाएंगे और इन पौधों पर मालिकाना हक किसान का होगा। वन विभाग के हिसाब से एक एकड़ में 660 पौधे लगाए जा सकते हैं।

सफीदों वन खंड अधिकारी जगदीप सिंह व वन रक्षक बहादुरगढ़ बीट इंचार्ज अंकित ने बताया कि इस योजना के तहत किसान अपने खेत व खेतों की डोलो (मेढ़ों)पर क्लोनल सफेदा के पौधे नि:शुल्क लगवा सकते है। पौधे लगाने का सम्पूर्ण कार्य वन विभाग द्वारा किया जाएगा। इसके बाद खेत में रोपित पौधों पर मालिकाना हक पूर्ण रूप से किसान का ही होगा। सफेदे की इस किस्म के पौधे 5 से 6 साल में बड़े पेड़ बन जाते है और किसानों को इन सफेदा के पेड़ों को काटने के लिए किसी विभाग से व किसी अधिकारी से अनुमति लेने की कोई आवश्यकता नहीं है।

उन्होंने बताया कि इस योजना को ब्लाक सफीदों में सिरे चढ़ाने के लिए वन विभाग विस्तृत कार्ययोजना तैयार कर चुका है। अगर कोई किसान खेतों में सफेदे के पौधे लगवाने का इच्छुक है तो वह संबंधित अधिकारी के मोबाइल नंबर 7206143197 व 9996486331 पर संपर्क कर सकता है।

वन खण्ड अधिकारी ने किसानों से आह्वान किया है कि वे अपने खेतों में पौधे लगवाकर इस योजना का पूरा लाभ उठाएं। ऐसा करके वे पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा देकर चारो ओर समाप्त हो रही हरियाली को दोबारा जीवित कर सकते है।

गौरतलब है कि इस योजना के तहत वन विभाग ने जींद जिले में 5 लाख 49 सौ पौधे रोपित करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए खाका तैयार कर दिया है। मानसूनी बारिश शुरू होते ही पौधे रोपित करने का काम शुरू कर दिया जाएगा, जिसके लिए नहरों व सड़कों के किनारे गड्ढे पहले ही खोदे जा रहे है।