बहुजन समाज पार्टी चंडीगढ़ इकाई ने चंडीगढ़ प्रशासन से बिजली डिसट्रिबिउशन  के काम को प्राइवेटाइज करने के फैसले को वापस लेने की कि मांग

चंडीगढ़:  बहुजन समाज पार्टी चंडीगढ़ इकाई की ओर से एक प्रतिनिधि मंडल पार्टी अध्यक्ष सुखदेव सिंह की अगवाही में स्पेशल सैकटरी (इंजीनियरिंग ) यूटी चंडीगढ़ को मिला और एक विज्ञापन पार्टी की ओर से उनको सौंपा गया । इस विज्ञापन द्वारा बहुजन समाज पार्टी , चंडीगढ़ इकाई ने प्रशासन से मांग की है कि बिजली डिसट्रिबिउशन  चंडीगढ़ के काम को प्राइवेटाइज करने के फैसले को वापस लिया जाए क्योंकि विभाग का काम बहुत बढ़िया तरीके से चल रहा है और विभाग को हर वर्ष लाखों रुपये का लाभ भी हो रहा है ।
बसपा का अनुभव है कि विजली वितरण का काम प्राइवेटाइज होने से बिजली सप्लाई प्रणाली में ग़िरावट के साथ साथ टैरिफ में भी बढ़ोतरी होगी जिसका सीधा असर आम जनता पर पड़ेगा। पार्टी का मानना है कि बिजली विभाग को प्राइवेटाइज करने का कोई कारण दिखाई नहीं देता इस लिए प्राइवेटाइजेशन का फैसला प्रशासन को वापस लेना चाहिए। प्रतिनिधि मंडल द्वारा गांव खुडा अलीशेर की सडको की खराब हालत का मुद्दा भी उठाया गया  और गाँव निवासिओं की भी तरफ से ज्ञापन भी दिया गया। इस प्रतिनिधि मंडल में पार्टी अध्यक्ष सुखदेव सिंह  के साथ चंडीगढ़ प्रदेश कोआर्डिनेटर वरियाम सिंह, बृजपाल, समय सिंह, महासचिव मनोज कुमार और सतिन्दर बसीया, सचिव हरिकिशन,  वार्ड नंबर एक के अध्यक्ष  रविन्दर सिंह, वार्ड नंबर 24 के अध्यक्ष जसवीर सिंह और सदस्य करमजीत सिंह भी शामिल थे।