बारिश ने भिगोई सफीदों मंडी के ख्खुले आसमान के नीचे पड़ी गेंहू व बोरियां

चंडीगढ़, सफीदों: देरसांय यहां आई हलकी बारिश में सफीदों मंडी में ख्खुले आसमान के नीचे पड़ी गेंहू व बोरियां भीग गई। खराब मौसम के चलते आढ़ती व किसान काफी चिंतित नजर आए। आढ़तियों व किसानों ने तिरपाल वगैरह डालकर फसल को बचाने का काफी प्रयास किया लेकिन गेंहू अधिक होने के कारण उनक प्रयास सफल होते नहीं दिखाई पड़े।

आढ़तियों का कहना था कि सफीदों मंडी में उठान का कार्य विधिवत रूप से नहीं चल रहा है। अब तक यहां लगभग चार लाख बोरियां परचेज हो चुकी है जबकि उठान केवल 25 से 30 हजार बोरियों का ही हुआ है। बारदाने की समस्या के कारण गेंहू की भराई नहीं हो पा रही है जिसकी वजह से खुले आसमान के नीचे गेंहू के ढेर पड़े दिखाई दे रहे हैं। कुदरत के आगे किसी का कोई बस नहीं है। हर आढती के पास 3 से 4 तिरपाल हैं। बरसात की स्थिति में उनका उपयोग किया जाता है लेकिन उठान ना होने के कारण ये तिरपाल पूरी फसल को कवर नहीं कर पाते। जिससे गेहूं की फसल भिगने का खतरा हमेशा मंडराता रहता है।

इस मामले में मार्किट कमेटी के सचिव जगजीत सिंह कादियान का कहना है कि मौसम विभाग की चेतावनी के मद्देनजर मंडी एसोसिएशन व परचेज सेंटरों पर नोटिस भिजवाया गया था। इस नोटिस में आढ़तियों को कहा गया था कि किसान की फसल को तिरपाल से ढककर रखा जाए। इसके अलावा मार्किट कमेटी द्वारा अनाउंसमेंट भी करवा दी गई थी। अगर कोई आढ़ती लापरवाही करता पाया गया तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।