मां मनसा देवी मंदिर में रोजाना बन रहा जरूरतमंद लोगों के लिए भंडारा

चंडीगढ़ – कोरोना वायरस के चलते पूरे देश भर में लॉक डाउन है।इसी के चलते माता मनसा देवी के द्वार भी बंद कर दिए गए है। ताकि लोगों की भीड़ यहां ना उमड़े और कोरोना वायरस का यह संक्रमण और लोगों में न फैले।

लेकिन मनसा देवी में बनने वाला भंडारा अभी भी जारी है। अभी यह भंडारा उनके काम आ रहा है जो गरीब, बेसहारा और दिहाड़ीदार मजदूर हैं। मनसा देवी के भंडारा कमेटी की ओर से प्रतिदिन  लगभग 20 हज़ार जरूरतमंद लोगों के लिए रोजाना लंगर बनाया जा रहा है और इसे उन मजदूर गरीब और बेसहारा लोगों तक पहुंचाया जा रहा है। जो लोग इस लॉक डाउन के चलते बेरोजगार हैं , बेसहारा हैं और सड़कों के किनारे अपना जीवन व्यतीत कर रहे हैं।
महामाई मनसा देवी चैरिटेबल भंडारा कमेटी-पटियाला वाला मंदिर के प्रमुख अमित जैन ने बताया कि उनके सदस्यों ने गरीब बेसहारा और जरूरतमंद लोगों की सहायतार्थ यह भंडारा बनाने की ठानी।  भंडारे के द्वारा वो उन गरीबों की भूख मिटाने का प्रयास कर रहे हैं, जो बेचारे इस लॉक डाउन के चलते रोजी रोटी व गुजर बसर के लिए बेबस है। भंडारा कमेटी के सदस्यों ने कहा कि उनके यहां से लंगर व फ़ूड पैकेट पंचकूला प्रशासन, चंडीगढ़ प्रशासन द्वारा प्रस्तावित विभिन्न समाजसेवी संस्थाए लेकर जा रही है।उन्होंने कहा कि वह मुसीबत की इस घड़ी में समाज के गरीब और बेसहारा वर्ग के साथ हैं।
अमित जैन ने आगे बताया कि उनकी कमेटी को साफ सफाई और स्वच्छता के लिए ISO 9001-2018 सर्टिफिकेट भी मिला हुआ है।