युवाओं को मोबाईल, जंकफूड एवं कम आयु में वाहन  चलाने से गुरेज करना चाहिए: हरियाणा के खेल एवं युवा मंत्री श्री संदीप सिंह

पंचकूला 4 फरवरी। हरियाणा के खेल एवं युवा मामले के मंत्री श्री संदीप सिंह ने कहा कि युवाओं को मोबाईल, जंकफूड एवं कम आयु में वाहन  चलाने से गुरेज करना चाहिए। इसके अलावा युवा नशे की बुराई से भी बचें तभी वे जीवन मंे वांछित मुकाम हासिल कर सकते है। खेलों की संस्कृति को विकसित करने के लिए युवाओं को इस तरह के व्यसनों से दूर रहना अनिवार्य है।
खेल मंत्री स्थानीय भवन विद्यालय में स्पोर्टस प्रमोशन सोसायटी पंचकूला के सौजन्य से आयोजित उत्कृष्ट खिलाड़ी सम्मान समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। इस समारोह की अध्यक्षता हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता ने की।   उन्होंने पंचकूला के लगभग  50 खिलाडि़यो   को 4 लाख रुपए की नकद राशि एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। इसके अलावा प्रतिभा को निखारने वाले प्रशिक्षक एवं खेल गतिविधियों में अग्रणी बुजुर्गो को भी सोसायटी की ओर से सम्मानित किया गया।
श्री सिंह ने कहा कि सरकार के बेटी बचाओ बेटी पढाओ नारे के साथ साथ बेटियों की खेलों में भी रूचि पैदा करें ताकि वे खेलों में आगे बढकर अभिभावकों के साथ प्रदेश व देश का नाम रोशन कर सकें। उन्होंने कहा कि सरकार का प्रयास है कि बेटियों को सुरक्षित माहौल मिले। इसके लिए लड़कियों की खेल टीम के साथ महिला खेल प्रशिक्षक तैनात किए जाएगें ताकि वे बेझिझक प्रशिक्षण कर सकें ओर अपनी समस्याओं को निसंकोच उनके समक्ष रख सकें।
खेल मंत्री ने कहा कि युवाओं की पहचान उनके अभिभावकों एवं वंश के नाम से पहचान न हो, बल्कि युवाओं के कारण उनके अभिभावकों की पहचान हो, ऐसा कार्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि हर जिला स्तर पर लडकों की अपेक्षा लड़कियां भी अधिक मैडल लेकर आएं। इसके लिए सरकार की ओर से हर सम्भव प्रयास किए जाएगें। युवाओं के लिए जिला स्तर पर टूर्नामेंट भी आयोजित किए जाएगें।
उन्होंने कहा कि युवाओं को सफलता हासिल करने के लिए अपना लक्ष्य निर्धारित करना चाहिए और कठोर परिश्रम से आगे बढना चाहिए। उन्होंने कहा कि खेल के क्षेत्र में कभी समझौता नहीं किया जा सकता क्योंकि खेलों में सदैव नम्बर वन आने की ही होड़ लगी होती है। उन्होंने कहा कि सोसायटी खिलाडियों को प्रोत्साहित करने का सराहनीय कार्य कर रही है। इससे समाज के प्रतिभावान युवाओं को आगे बढने के अवसर मिलते है। उन्होंने अपने ऐच्छिक कोष से 2 लाख रुपए की राशि देने की घोषणा की।
  स्पोटर्स प्रमोशन सोसायटी के अध्यक्ष एवं हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता ने कहा कि अश्वनी गुप्ता की याद में गठित स्पोर्टस प्रमोशन सोसायटी ग्रामीण क्षेत्र में छिपी हुई प्रतिभाओं को निखारने का कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि खेलों से जीवन में अनुशासन, टीम की भावना एवं मिलजुल कर कार्य करने की प्रेरणा मिलती है और हम सामुहिक रूप से लक्ष्य को हासिल करने की ओर बढते है।
उन्होंने कहा कि युवा नशे की बुराई से बचकर अपनी सकारात्मक ऊर्जा का प्रयोग खेलों में लगाए तो वह राष्ट्र के प्रति भी कृतज्ञ रहेगा ओर शरीर से भी  तंदरूस्त रहेगा। उन्होंने कहा कि सोसायटी का मुख्य ध्येय ही युवाओं को खेलों के प्रति आकर्षित करना और सामाजिक बुराईयों से बचाना है। उन्हांेंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों मेें आयोजित कबडडी प्रतियोगिताओं से युवाओं में बड़ा साहस बढा है और बढचढ कर भाग ले रहे है।
अर्जुन अवार्डी बबीता ने कहा कि अभिभावकों को अपनी बेटियों को आगे बढने के लिए प्रेरित करना चाहिए तथा उन्हें कमजोर न बनाकर सशक्त बनाने का प्रयास करना चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि महिलाओं को सही अवसर मिलें तो वे अपने देश का नाम विश्व स्तर पर रोशन कर सकती है। खिलाडियों को जीत से अंहकार एवं हार से कभी निराश नहीं होना चाहिए।  
 सीईओ दिलीप तिवारी ने सम्बोधित करते हुए कहा कि स्पोर्टस प्रमोसन सोसायटी जितने भी आयोजन करेेगी उनका निशुल्क प्रचार प्रसार किया जाएगा। उन्होंने सोसायटी के कार्यो की सराहना की और उन्हें बधाई दी। सोसायटी के प्रधान डी पी सोनी, महासचिव एन डी शर्मा ने भी समारोह में अपने विचार रखे। इस मौके पर जिला भाजपा प्रधान दीपक शर्मा, महासचिव हरेन्द्र मलिक, वीरेन्द्र मेहता, डी के राणा, प्राचार्य गुलशन कौर सहित कई पदाधिकारी मौजूद रहे।