राजकीय महाविद्यालय कालका में ’हिंदी भाषा में रोजगार के अवसर’ विषय पर किया गया व्याख्यान कार्यक्रम

पंचकूला, 11 जनवरी: राजकीय महाविद्यालय कालका की प्राचार्या श्रीमती प्रोमिला मलिक के मार्गदर्शन और दिशा निर्देशन में ’हिंदी भाषा में रोजगार के अवसर’ विषय पर आॅनलाईन व्याख्यान का आयोजन किया गया। प्रस्तुत व्याख्यान हिंदी विभाग और प्लेसमेंट सेल के संयोजन से किया गया। 

हिंदी दुनिया की दूसरी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है l

इस संबंध में जानकारी देते हुये प्रो. डाॅ. बिंदु ने बताया कि इस कार्यक्रम अध्यक्षता पंजाब विश्वविद्यालय चंडीगढ के हिंदी प्रोफेसर डाॅ अशोक कुमार ने की। उन्होंने कहा कि हिंदी दुनिया की दूसरी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है। हिंदी में रोजगार या करियर बनाने के विकल्पों में भी लगातार बढ़ोतरी हुई है। हिंदी पढ़ने वाले छात्रों के बीच पत्रकारिता रोजगार का एक आर्कषक विकल्प है। केंद्र सरकार और राज्य सरकार के विभिन्न विभागों में हिंदी अनुवाद, हिंदी सहायक, प्रबंधक के क्षेत्र में रोजगार के अवसर है। प्रिंट, इलेक्ट्रानिक मीडिया, इंटरनेट, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मंच और संस्थाओं में भी हिंदी के प्रयोग में इजाफा हुआ है।

एमए हिंदी और पीएचडी करके काॅलेज और यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर भी बन सकते है। हिंदी भाषा सुसंस्कृत व्यक्तित्व बनाती है। हमारे व्यक्तित्व का परिष्कार भी करती है। विदेशों में भी हिंदी भाषा अपनी धाक बनाये हुये है।

प्रस्तुत आॅनलाईन व्याख्यान प्लेसमेंट सेल के वरिष्ठ प्रो. राकेश गोयल, श्रीमती सुनीता और हिंदी विभागाध्यक्ष प्रो. डाॅ. बिंदु, डाॅ. नीरू शर्मा, डाॅ कविता, श्रीमती गीता, प्रो. डाॅ रमाकांत के नेतृत्व में किया गया। प्रस्तुत व्याख्यान में विद्यार्थियों ने बढ़चढ़कर भाग लिया।

Leave a Reply