वर्किंग जर्नलिस्ट्स ऑफ इंडिया की “चुनाव व डिजिटल मीडिया” विषय पर राष्ट्रीय वेबिनार 17 जनवरी को

नई दिल्ली: वर्किंग जर्नलिस्ट्स ऑफ इंडिया द्वारा, देश का पहला “चुनाव व डिजिटल मीडिया” पर नेशनल वेबिनार। यूनियन की राष्ट्रीय कोर समिति के आज हुई ऑनलाइन मीटिंग में इस पर फैसला लिया गया।

कोविड काल में विधान सभा चुनावों में किस तरह बेहतर से बेहतर रिपोर्टिंग करे, विषय पर WJI देगी जानकारी l

वर्किंग जर्नलिस्ट्स ऑफ इंडिया की कोर ग्रुप की आज हुई मीटिंग की अध्य्क्षता यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अनूप चौधरी जी ने की है। इस बैठक का संयोजन यूनियन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री संजय कुमार उपाध्याय जी ने किया है। मीटिंग में ऑनलाइन मीडिया से जुड़े पत्रकारो के लिये राष्ट्रीय वेबिनार 17 जनवरी को आयोजित करने का प्रस्ताव यूनियन के राष्ट्रीय महासचिव श्री नरेन्द्र भंडारी ने रखा, जिसे सभी ने मंजूरी दे दी है।

वर्किंग जर्नलिस्ट्स ऑफ इंडिया, द्वारा देश के मुख्य चुनाव आयुक्त को पत्र भेजकर 5 राज्यो में चुनाव प्रचार वर्चुअल/डिजिटल करवाये जाने पर धन्यवाद किया गया।

आज की बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष अनूप चौधरी, राष्ट्रीय महासचिव नरेंद्र भंडारी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संजय उपाध्याय, दिल्ली से लक्षमण इन्दोरिया, सुनील परिहार, प्रितपाल सिंह, उत्तराखंड से अध्यक्ष सुनील गुप्ता, महासचिव शैलेन्द्र नेगी, हरियाणा से अध्यक्ष योगेश सूद, कार्यकारी अध्यक्ष विकास सुखीजा, झारखंड से संयोजक सरोज आचार्य, केरल से अध्यक्ष शिजू थारैल, महासचिव बिज्जू शामिल हुए है।

वर्किंग जर्नलिस्ट्स ऑफ इंडिया ने देश के मुख्य चुनाव आयुक्त को पत्र भेजकर, उनसे चुनाव वाले सभी 5 राज्यो के सूचना अधिकारियों को डिजिटल/ऑनलाइन मीडिया के पत्रकारों को चुनाव कवरेज में सहयोग करने व उनके चुनाव कवरेज कार्ड बनाने के निर्देश देने का आग्रह।

आज की आनॅ लाईन मीटिंग में शामिल पत्रकारो ने कहा कि देशभर के पांच राज्यो में चुनाव है, देश की आज़ादी के बाद पहली बार ऐसा हो रहा है, जब काफी कुछ चुनाव प्रचार वर्चुअल व ऑनलाइन होगा।

राष्ट्रीय महासचिव श्री भण्डारी ने कहा कि 6 साल पहले जब हमारी यूनियन WJI ने ऑनलाइन/डिजिटल मीडिया को मान्यता देने की आवाज़ उठायी, तो अन्य पत्रकार संगठन हम पर हंसते थे। हम अपनी बात पर अड़े रहे, उसके लिये केंद्रीय मंत्रियों से मिले व कई बार सड़को पर उतरकर प्रदर्शन भी करने पड़े। एक लम्बे संघर्ष के बाद केंद्र सरकार ने डिजिटल मीडिया के साथियो को पत्रकार के श्रेणी में रख लिया।

अब तो चुनाव आयोग ने भी डिजिटल मीडिया के महत्त्व को देखकर, 5 राज्यो में चुनाव प्रचार वर्चुअल व ऑनलाइन करने की मंजूरी दे दी है। दोस्तो अब हमें देखना है कि अपने वर्चस्व को बनाये रखने के लिये हम इन चुनावों में किस तरह बेहतर से बेहतर रिपोर्टिंग करे।

इस विषय पर ज्यादा जानकारी देने के लिये हमारी यूनियन ने अपने 5वें स्थापना दिवस के अवसर पर 17 जनवरी को दोपहर 3 बजे एक नेशनल वेबिनार करने का फैसला लिया है, जिसमे डिजिटल मीडिया के कुछ एक्सपर्ट्स आपको रिपोर्टिंग संबंधी ज्ञान देंगे। तो 17 जनवरी दोपहर 3 से 5 बजे तक अपना समय सुरक्षित रखे।

यूनियन की तरफ से आज देश के मुख्य चुनाव आयुक्त को एक पत्र भेजा गया है, जिसमे उनसे ऑनलाइन मीडिया के पत्रकारों को चुनावी कवरेज के दौरान किसी भी तरह की असुविधा न आने देने के लिए राज्यो के सूचना अधिकारियों को निर्दर्श देने का निवेदन किया गया है।http://www.wjionline.org/ https://wjidigitalmediadirectory.com/

Leave a Reply