वीटा बूथों पर हैफेड के सहयोग से आटा, चावल, तेल इत्यादि के स्टॉक की जा रही व्यवस्था 

 
पंचकूला़, 25 मार्च-  उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने कहा कि बेघर और दिहाड़ीदार मजदूरों को राशन पहुंचाना और यदि आवश्यक हो तो खाना बनाकर भी उनके घर द्वार तक पहुंचाना सुनिश्चित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि   आवश्यकता अनुसार वीटा बूथों पर हैफेड के सहयोग से आटा, चावल, तेल इत्यादि के स्टॉक की व्यवस्था भी की जा रही है।
उपायुक्त हरियाणा की मुख्य सचिव केशनी आनन्द अरोडा के साथ वीडियो कांन्फे्रसिंग से लाॅकडाउन की स्थिति बारे अवलोकन के समय जानकारी दे रहे थे।
उपायुक्त ने कहा कि डायबटिज, ब्लड प्रेशर, हृदय संबंधी समस्याओं के लिए सामान्य रूप से मिलने वाली दवाओं की भी उपलब्धता व आपूर्ति सुनिश्चित की जा रही है। उन्होंने बताया कि  21 दिनों तक जिला में पूरी तरह से लॉकडाउन होने की स्थिति में आवश्यक वस्तुओं की आवाजाही में किसी प्रकार की कोई समस्या नही आने दी जाएगी और घर-घर तक आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए व्यवस्था तैयार की गई है। इसके अलावा, सभी पुलिसकर्मियों को सोशल डिस्टेसिंग का पालन करने  एंवं आवश्यक वस्तुओं की खरीद करने जा रहे आम लोगों को न रोकने के निर्देश दिए गए है।
 मुख्य सचिव ने मण्डलायुक्त एवं उपायुक्तों निर्देश देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा पूरे देश में लॉकडाउन घोषणा के समय सबसे बड़ी चुनौती यही है कि किस प्रकार लोगों को उनके घर द्वार तक आवश्यक वस्तुएं उपलब्ध करवाई जाएं। उन्होंने कहा कि लोग बिल्कुल भी घर से बाहर न निकलें, यह तभी संभव होगा जब उन्हें दैनिक जरूरतों की चीजें उनके घर द्वार पर मिलेंगी। इसके लिए सभी मंडल आयुक्त, जिला उपायुक्त अपने-अपने जिलों में क्षेत्र या वार्ड अनुसार सब्जी, दूध और परचून विक्रेताओं की लिस्ट और उनके नंबर अपनी वैबसाइट पर अपलोड करें और मीडिया के माध्यम से भी लोगों तक इन नंबरों की जानकारी पहुंचाए ताकि लोग अपने वार्ड अनुसार इन विक्रेताओं से सीधे बात करके आवश्यक वस्तुएं प्राप्त कर सके।
          उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि सभी जिला उपायुक्त अपने-अपने जिलों के व्यापारियों, थोक और खुदरा विक्रेताओं से संपर्क में रहें और सभी प्रकार की आवश्यक वस्तुओं के स्टॉक की उपलब्धता सुनिश्चित करने तथा फल एवं सब्जी उत्पादकों को मंडी तक आसानी से पंहुच बनानी चाहिए। उन्होंने कहा कि इस संकट के समय मनुष्य के साथ-साथ जानवरों व पक्षियों के लिए खाना व चारा भी महत्वपूर्ण तथा आवश्यक वस्तुओं की श्रेणी में आता है। इसलिए जानवरों व पक्षियों के लिए खाना व चारे की भी आवाजाही लगातार बनी रहनी चाहिए।
         उन्होंने कहा कि आवश्यक वस्तुएं या मैन्यूफक्चरिंग यूनिटों के लिए जो कच्चा माल पड़ोसी राज्यों से आता है, उनकी आवाजाही में किसी प्रकार की कोई समस्या या बाधा न आए, इसके लिए पुलिस विभाग पड़ोसी राज्यों के साथ समन्वय स्थापित करके अंतरराज्यीय बॉर्डर पर तैनात पुलिसकर्मियों को विशेष दिशा-निर्देश जारी करे।

Leave a Reply