श्री गुरू नानक देव जी के 550वें प्रकाशोत्सव के उपलक्ष्य में 1 अगस्त को ननकाना साहिब (पाकिस्तान) से आरम्भ हुआ विशाल अंतर्राष्ट्रीय नगर कीर्तन आज प्रात: 3 बजे पंचकूला जिला में प्रवेश

पंचकूला/ 12 अगस्त, 2019: श्री गुरू नानक देव जी के 550वें प्रकाशोत्सव के उपलक्ष्य में 1 अगस्त को ननकाना साहिब (पाकिस्तान) से आरम्भ हुआ विशाल अंतर्राष्ट्रीय नगर कीर्तन आज प्रात: 3 बजे पंचकूला जिला में प्रवेश हुआ। जिला में पहुंचने पर प्रशासन के अधिकारियों, शिरोमणी गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी के पदाधिकारियों शिरोमणी अकालीदल के प्रतिनिधियों व हजारों की संख्या में स्थानीय श्रद्धालुओं ने बोले सो निहाल सत श्री अकाल के गगनभेदी नारों के साथ इस नगर कीर्तन का गर्मजोशी से स्वागत किया और पुष्प वर्षा की। प्रशासन की ओर से नगर कीर्तन की यातायात व्यवस्था के साथ-साथ एंबुलैस, फायर बिग्रेड, मार्ग की सजावट इत्यादि की व्यवस्था की गई थी। यह नगर कीर्तन प्रात: 4 बजे गुरूद्वारा श्री नाडा साहिब पहुंचा और यहां थोडे विश्राम के बाद प्रात: 8.30 बजे पंजाब के रास्ते अम्बाला के लिए रवाना हुआ। 
पांच प्यारों की अगुवाई में इस नगर कीर्तन में एक वातानुकुलित बस में श्री गुरू ग्रन्थ साहिब को सुशोभित किया गया था और उसके पिछे वाहनो के लम्बे काफिले में सिक्ख गुरूओं के शस्त्रों तथा गुरू नानक देव जी की खंडाउं से सजी बस व श्रद्धालुओं से भरी गाडियां कीर्तन करते हुए चल रही थी। पंचकूला की संगत आज सैक्टर 6-7 के चौक, माजरी चौक और नाडा साहिब गुरूद्वारा में जलपान व लंगर के स्टाल सजाए हुए थे। 
शिरोमणी अकाली दल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष रघुजीत सिंह विर्क ने इस मौके पर कहा कि श्री गुरू नानक देव जी ने पुरी मानवता को अंधविश्वास त्याग कर एक अकाल पुरख की अराधना करने का उपदेश दिया। उन्होंने चार पदयात्राएं करके देश और विदेश में मानवता को ज्ञान दिया और जीवन के सही मार्ग पर चलने की प्रेरणा दी। उन्होंने कहा कि यह नगर कीर्तन 12 अगस्त को अम्बाला होते हुए यमुनानगर जिला में कपाल मोचन नानक स्थान पर रात्रि विश्राम करेगा और वहां से हिमाचल मे प्रवेश करेगा।
इस मौके पर रघुजीत सिंह विर्क के अलावा जिला प्रशासन के अधिकारी, अकाली दल के जिला अध्यक्ष मलविन्द्र सिंह बेदी, डा0 हरनेक सिंह, शरणजीत सिंह सौंटा, जगीर सिंह सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित रहे।