समाजसेवी रविंद्र सिंह बिल्ला और टीम की तरफ से बाँटे जा रहे लंगर का हुआ समापन।

चंडीगढ़: यू टी चंडीगढ़ अवार्डी समाजसेवी रविंद्र सिंह बिल्ला और उनकी टीम ने लॉक डाउन 4.0 के अंतिम दिन आज पिछले 70 से चल रही लंगर सेवा का समापन कर दिया । आखिरी दिन उनकी तैअफ़ से खेरर, पूड़ी, हलवा और चावल चने का लंगर बाँटा गया। इसके अलावा गरीब और जरूरतमन्दों को गर्मी से राहत देने के लिए लस्सी बांटी गई।
वही आज समापन समारोह के दौरान चंडीगढ़ फ़ूड एंड सप्लाई भिवग के असिस्टेंट डायरेक्टर तेजदीप सिंह सैनी, ड्यूटी मैजिस्ट्रेट संदीप के अलावा नोडल अफसर जे पी सिंह और विजय मिड्ढा सहित पेंट डीलर एसोसिएशन के पदाधिकारी, और चंडीगढ़ व्यापारमंडल के प्रेजिडेंट अनिल वोहरा सहित चेयरमैन व मनोनीत पार्षद चिरंजीव सिंह भी उपस्थित थे।
सरबत के भले की अरदास कर समाप्त किया लंगर बांटने का सफर।
इस मौके पर तेजदीप सिंह सैनी ने पिछले 70 दिन से लगातार समाजसेवा में लगे रविंदर सिंह बिल्ला और उनकी टीम को सिरोपा और स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया । उन्होंने इस मौके कहा कि इस कर्फ्यू और लॉक डाउन के दौरान इन समाजसेवी संस्थओं ने कोरोना संक्रमन के दौरान जोनेक कार्य किया है, उसकी जिसकी जितनी प्रशंसा की जाए वो कम है। नगर उपायुक्त के एकबार कहने पर समाजसेवियों ने जो मदद के लिए हाथ बढ़ाया है, उससे गरीब वर्ग को बहुत सहारा मिला है और भूखे पेट सोने नही दिया।
इस अवसर पर परशुराम भवन के पदाधिकारियों ने भी तेजदीप सिंह सैनी के साथ साथ लेबर सेल कमेटी के सदस्यों कोसम्मानित किया।