सालाना 2 करोड़ रोजगार का वादा करके सत्ता में आयी भाजपा के राज में 45 वर्षों में सर्वाधिक बेरोजगारी : राजिंदर राणा

चण्डीगढ़ : बीजेपी के मुख्यमंत्री पद के लिए घोषित उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल को हरा कर हिमाचल प्रदेश की विधानसभा में दिग्गज बन कर पँहुचे सुजानपुर के विधायक राजिंदर राणा इन दिनों चण्डीगढ़ में हिमाचली मूल की जनता के सम्मेलनों में कांग्रेस पार्टी का धुंआधार प्रचार करने में लगे हैंI आज उन्होंने गाँव खुड्डा लाहौरा व गाँव कांसल में हिमाचली मूल की जनता की  दो जनसभाओं को सम्बोधन देते हुये राणा ने बीजेपी पर तीखे जुबानी हमले बोले। राणा ने कहा कि एक बड़ी सियासी साजिश के तहत मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए बीते 5 वर्षों में देश की राजनीती में झूठ एक चैलेंज बन उभरा है। झूठ बोल कर हासिल की गई सत्ता के शाह नित नये झूठ बोल के उन झूठों को सच साबित करने के प्रयोग सत्ता के सहारे कर रहे है। राणा  ने बड़ा खुलासा किया कि ज़ोर-जबरदस्ती के इस दौर में बीते 45 वर्षों में बेरोजगारी की दर सबसे ज्यादा अधिक है और ये खतरनाक स्थिति उस समय में हुई है जिसमें हर साल 2 करोड़ रोजगार देने के वायदे के दम पर सत्ता हासिल की गई थीI 1972 के बाद पहली बार देश में बेरोजगारी की दर अपने सबसे ऊंचे चरम पर इन 5 सालों में पहुचीं हैI राणा ने कहा कि देश में बेरोजगारी की दर 6.1 फीसदी तक जा पहुचीं है  जिनमे शहरी शिक्षित बेरोजगारों की दर 7.8 फीसदी तक जा पहुचीं है जबकि ग्रामीण शिक्षित युवा महिलाओं की बेरोजगारी दर तो 17.3 फीसदी के खतरनाक आंकड़े तक जा पहुचीं है। सरकार के अंतरिम व अंतिम बजट में बेरोजगारी के कड़वे सच का न तो कोई ज़िक्र किया गया है न ही देश को निगलने वाली इस विकराल होती समस्या का कोई हल देने की बात कही गई है जिससे साफ है कि आने वाले समय में भी बीजेपी बेरोजगारों से दगा करने की मनसा पाले हुए है। इस बार कर्ज से दबे किसान को 17 रुपए रोज की राहत का कार्ड खेल कर अब किसानों को ठगने का मसौदा तैयार किया गया है लेकिन इनकी नीयत व नीति को देश का हर वर्ग समझ चुका है। इस बार इनके झांसे में यह देश आने वाला नहीं। राणा ने चंडीगढ़ व पंजाब-हरियाणा में बसे हिमाचली मूल के लोगों से आह्वान किया कि वे आने वाले लोकसभा चुनावों में कांग्रेस के समर्थन के लिए मतदान के दिन व उससे पहले हिमाचल पँहुचे ताकि हाई-प्रोफाइल नेताओं व झूठों की सरकार के नुमाइंदों को चलता किया जा सके।