हरियाणा में बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर भाजपा-जजपा सरकार जिम्मेदार: हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी सैलजा

चंडीगढ़, 23 नवंबर: हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने हरियाणा में बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर भाजपा-जजपा सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि सरकार की नाकामियों और लापरवाही के कारण हरियाणा प्रदेश में एक बार फिर कोरोना की रफ्तार तेजी से बढ़ रही है। हरियाणा प्रदेश में कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार बेहद ही चिंता का विषय है। सरकार कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए तुरंत प्रभाव से ठोस कदम उठाए।
यह बातें हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने यहां जारी बयान में कहीं।
कुमारी सैलजा ने कहा कि कोरोना संक्रमण के नियंत्रण में हरियाणा की गठबंधन सरकार पूरी तरह से विफल साबित हुई है। कांग्रेस पार्टी द्वारा बार-बार चेताने के बावजूद सरकार द्वारा इस महामारी से निपटने के कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किए गए। जिसके परिणामस्वरूप पिछले 7 दिनों में ही हरियाणा में कोरोना के 17,557 मामले सामने आ चुके हैं और पिछले 7 दिनों में कोरोना से 155 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। नए मरीज बढ़ने की दर में हरियाणा एक माह में नौवें से तीसरे स्थान पर आ गया है। सक्रिय मरीजों की संख्या में भी बढ़ोतरी हो रही है। हरियाणा में अभी तक कुल 2209 लोगों की मौत कोरोना संक्रमण से हो चुकी है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा हरियाणा प्रदेश में बिना पूरी तैयारियों के स्कूल खोल दिए गए। जिस कारण 300 से ज्यादा स्कूली बच्चे और 35 से ज्यादा शिक्षक कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। सरकार की नाकामी और लापरवाही के कारण कोरोना संक्रमण का खतरा बच्चों, उनके अभिभावकों और शिक्षकों तक पहुंच गया। कांग्रेस पार्टी द्वारा स्कूल खोलने के फैसले पर सरकार को चेताया गया था, लेकिन सरकार ने हमारी आवाज को अनसुना कर दिया।
कुमारी सैलजा ने कहा कि कोरोना महामारी की यह स्थिति हरियाणा प्रदेश में भयावह हालातों को बयां कर रही है। यदि समय रहते हरियाणा सरकार द्वारा कोरोना की रोकथाम के लिए ठोस कदम नहीं उठाए गए तो स्थिति और भी विस्फोटक हो सकती है। वहीं प्रदेश से लगातार यह खबरें भी आ रही हैं कि कोरोना मृतकों के असली आंकड़े छुपाए जा रहे हैं। इस तरह से आंकड़े छुपाए जाना अत्यंत चिंता का विषय है।
कुमारी सैलजा ने कहा कि हरियाणा प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की असल संख्या आधिकारिक आंकड़ों से कहीं ज्यादा है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए तुरंत प्रभाव से ठोस कदम उठाए और पूरे प्रदेश में युद्ध स्तर पर कोरोना टेस्टिंग की जाए, जिससे इस महामारी को नियंत्रित किया जा सके।