हरियाणा राज्य कर्मचारी संघ नहीं लेगा हड़ताल में हिस्सा, संगठनों से जबरदस्ती की तो देंगे करारा जवाब: गुर्जर

चंडीगढ़/ 7 जनवरी – हरियाणा राज्य कर्मचारी संघ व इससे सम्बंधित कर्मचारी संगठनों व श्रमिक संगठनों ने फैसला लिया है कि 8 जनवरी को वामपंथियों व उनके संगठनों द्वारा हड़ताल की जो घोषणा की है उसमें हरियाणा राज्य कर्मचारी संघ भाग नहीं लेगा जिसमें परिवहन,बिजली स्वास्थ्य सिंचाई, जनस्वास्थ्य,पी, डब्लू,डी, अध्यापक संघ, शूगर मिल, मिडडे मिल, पैक्स, एन एच एम अर्बन हेल्थ, शिक्षा विभाग, पशुपालन विभाग, चतुर्थ श्रेणी, लिपिक, मत्स्य, सिविल सचिवालय, निदेशालय चंढीगढ़, पंचकूला सहित प्रदेश भर में कर्मचारी हड़ताल में हिस्सा नहीं लेंगे।

आज जारी बयान में हरियाणा राज्य कर्मचारी संघ के प्रदेश सयोजक कृष्ण लाल गुर्जर ने बताया कि वामपंथियों द्वारा साल में एक राष्ट्रव्यापी हड़ताल व एक संसद घेराव करते है और अब तो इन संगठनों ने कुछ राजनीतिक दलों के साथ नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में राष्ट्रविरोधी हड़ताल व भारत बन्द जैसा आह्वान किया है इसलिए  हरियाणा राज्य कर्मचारी संघ हड़ताल में भाग नही लेगा। उन्होंने कहा कि जिसे हड़ताल करनी हैI वह करे हम किसी को नहीं रोकेंगे । उन्होंने कहा कि इस बात के लिये भी आगह किया जाता है कि  हमारे किसी कर्मचारी के साथ हड़ताल में शामिल होने के लिए जोर जबरदस्ती की तो हमारा संगठन चुप नही बैठेगा।

उन्होंने बताया कि मंगलवार को सिरसा के उपमंडल ऐलनाबाद के बिजली कार्यालय प्रांगण में अनुबंधित विद्युत कर्मचारी संघ की बैठक में वामपंथियो से सम्बंधित संगठन के कुछ तथाकथित नेताओं ने हमला कर मारपीट की और उलटे पुलिस में शिकायत तक की। उन्होंने कहा कि वामपंथी संगठनों के लोग हड़ताल को लेकर बौखलाए हुए हैं क्योंकि उन्हें किसी का समर्थन नहीं मिल रहा। उन्होंने ऐलनाबाद प्रशाशन से मांग की है कि हमलावरों को तुरंत गिरफ्तार करे ताकि 8 जनवरी को कोई अनहोनी घटना न हो । इसके साथ-साथ सरकार व प्रशाशन को भी आगाह करते हैं कि कर्मचारियों को अगर कोई जानमाल का नुकसान पहुंचता है तो इसके जिम्मेवार सरकार व प्रशासन की होगी।