37वां सालाना उर्स-ए-मुबारक एवं सर्वधर्म समागम 14 से 20 जनवरी को श्री राम दरबार में

चण्डीगढ़ : सूफी संत बाबा कलंदर रुकनुद्दीन ( कुंडे वाली सरकार ) का 56वां तथा जन्नतनशीन मर्दे कलंदर परम पूज्य माता राम बाई जी हजूर शहंशाह का 37वां उर्स-ए-मुबारक श्री रामदरबार में अपनी परंपरा अनुसार 14 जनवरी से 20 जनवरी तक सर्वधर्म समागम के रूप में आयोजित किया जा रहा है। समागम में सूफी संत कलंदर रुकनुद्दीन, शहंशाह अमीर हजूर तथा बाबा सखी चंद मौजूद रहेंगे। गद्दीनशीन शहजादा पप्पू सरकार ने उक्त जानकारी देते हुए बताया कि कार्यक्रम के मुताबिक 14 जनवरी दिन मंगलवार को प्रातः 10:00 बजे श्रीमद् भागवत सप्ताह कथा प्रारंभ होगी। 15 जनवरी दिन बुधवार को प्रातः 10:00 बजे अखंड पाठ श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी आरंभ होगा 16 जनवरी वीरवार को रात्रि 8:00 बजे फ़रियाद होगी जबकि 17 जनवरी दिन शुक्रवार को प्रात 10:00 बजे अखंड पाठ श्री गुरु जी का भोग डाला जाएगा। इस मौके पर पाठी भाई लखविंदर सिंह जी चंडीगढ़ वाले उपस्थित रहेंगे। 18 जनवरी दिन शनिवार को प्रात: 10:00 बजे श्री रामचरित मानस का अखंड पाठ आरंभ होगा व 19 जनवरी दिन रविवार को प्रात: 10:00 बजे हवन-यज्ञ  होगा। तत्पश्चात प्रातः 11:00 बजे श्री रामचरित मानस के अखंड पाठ का भोग पड़ेगा एवं भजन-कीर्तन होगा। रात्रि 8:00 बजे रस्में मेहंदी कार्यक्रम होगा जिसमें नीलम शर्मा की प्रस्तुति होगी। इसके अलावा सूफी सूफी महफ़िल भी सजाई जाएगी। 20 जनवरी दिन सोमवार को प्रात 10:00 बजे श्रीमद् भागवत सप्ताह कथा का समापन होगा एवं भजन कीर्तन भी चलेगा। सांय 4:00 बजे झंडा रस्म होगी। तत्पश्चात सांय  7:00 बजे से रात्रि 8:00 बजे तकफ़रियाद होगी। रात्रि 8:00 बजे के बाद सारी रात में महफिले कव्वाली चलेगी जो रज़मी एंड पार्टी व सलीम एंड पार्टी द्वारा की प्रस्तुत की जाएगी। उन्होंने बताया कि सभी कार्यक्रम के दौरान अतिथियों के लिए निर्धारित समय पर प्रसाद का प्रबंध रहेगा। 20 जनवरी को देश की प्रसिद्ध कव्वाल पार्टियों द्वारा कार्यक्रम पेश किये जाएंगे। उन्होंने बताया कि उर्स-ए-मुबारक में झंडे लेकर आने वाले श्रद्धालुओं से 20 जनवरी को सायं 4:00 बजे से रात्रि 7:00 बजे तक झंडे स्वीकार किए जाएंगे।

Leave a Reply